पहले चरण के चुनाव का नामांकन समाप्त, कई हैवी वेट उम्मीदवारों ने भरे नामांकन

गुवाहाटी

4 अप्रैल को होने जा रहे असम विधानसभा के पहले चरण के चुनाव के लिए आज नामांकन भरने का अंतिम दिन था। पहले चरण में कई हैवीवेट उम्मीदवारों ने अपने नामांकन दाखिल किए है जिनमें मुख्यमंत्री तरुण गोगोई भी शामिल है।

समर्थकों की भीड़ के बीच खुली जिप्सी में पत्नी डॉली गोगोई के साथ मुख्यमंत्री गोगोई महकमाधिपति कार्यालय पहुंचे। मुख्यमंत्री ने चौथी बार विधानसभा चुनाव के तहत जोरहाट के तिताबोर क्षेत्र से अपना नामांकन दाखिल किया। पर्चा भरने के बाद पत्रकारों से मुखातिब होते हुए उन्होंने कहा कि तिताबोर की जनता उनके साथ है। जनता का प्यार उन्हें इस बार भी मिलेगा और वे चुनाव जरूर जीतेंगे।

इधर तिताबोर क्षेत्र में तरुण गोगोई को चुनौती देते हुए बीजेपी के उम्मीदवार सांसद कामाख्या प्रसाद तासा ने भी अपना नामांकन दाखिल किया। वे भी खुली जिप्सी में बीजेपी के सीएम पद के उम्मीदवार सर्वानंद सोनोवाल और बीजेपी सचिव महेंद्र सिंह को साथ लेकर महकमाधिपति कार्यालय पहुंचे और अपना नामांकन दाखिल किया। इससे पहले सर्वानंद सोनोवाल ने दावा किया कि तिताबोर में बीजेपी उम्मीदवार कामाख्या प्रसाद तासा की ही जीत होगी। इस बार तिताबोर की जनता तरुण गोगोई को उचित जवाब देगी।

अंतिम दिन शक्ति प्रदर्शन करते हुए राज्य भर में पार्टी उम्मीदवारों ने अपने नामांकन दाखिल किए। बढ़मपुर क्षेत्र से चुनाव लड़ने के लिए भारी समर्थकों के साथ पूर्व मुख्यमंत्री प्रफुल्ल महंत ने नगांव के उपायुक्त कार्यालय में अपना नामांकन दाखिल किया। एजीपी के पूर्व अध्यक्ष वृन्दावन गोस्वामी ने तेजपुर से अपना पर्चा भरा। नामांकन भरने के बाद उन्होंने दावा किया कि उन्हें क्षेत्र में कोई चुनौती नहीं मिलेगी। जनता फिर से उन्हीं को चुनेगी।

इधर मोरान से पवन सिंह घाटोवार, लाहोवाल से पृथ्वी माझी, मार्घेरिटा से प्रद्युत बरदोलोई ने भी अपना-अपना नामांकन दाखिल किया। खुमताई में शक्ति प्रदर्शन करते हुए कांग्रेस की उम्मीदवार बिस्मिता गोगोई भी नामांकन दाखिल करने पहुंची। उन्होंने कहा कि जनता को विकास चाहिए जो हमने उन्हें दिया है, इसलिए इस बार भी जनता हमें ही चुनेगी। वहीँ मार्घेरिटा से प्रणति फुकन के अलावा अन्य क्षेत्रों में भी उम्मीदवारों ने पहले चरण के चुनाव के तहत नामांकन भरे।

असम बीजेपी के अध्यक्ष और मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार सर्बानंद सोनोवाल ने दो दिन पहले ही जोरहाट जिले के माजुली  विधानसभा सीट से नामांकन पत्र दाखिल क्र चुके हैं । माजुली से सोनोवाल को टक्कर देने के लिए कांग्रेस ने उनके खिलाफ इस क्षेत्र से वर्तमान विधायक व पूर्व जल संसाधन मंत्री राजीव लोचन पेगु को खड़ा किया है।

आप को बता दें कि फिलहाल संसद में सोनोवाल लखीमपुर संसदीय क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करते हैं। सोनोवाल के नेतृत्व में भाजपा ने साल 2014 में हुए लोकसभा चुनाव में असम में 14 सीटें जीतीं थीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: