ताजमहल कभी मंदिर था, इस का कोइ प्रमाण नहीं-केंद्र सरकार

नई दिल्ली

ताजमहल कभी पुराना हिन्दू मंदिर हुआ करता था, इस का कोई प्रमाण नहीं है, केंद्र सरकार ने यह साफ़ कर दिया है। केंद्र सरकार ने लोकसभा में साफ कर दिया कि ऎसा कोई साक्ष्य नहीं मिला है जिससे ये साबित हो सके कि आगरा में बना ताजमहल पुराना हिंदू मंदिर था। गौरतलब है कि ताजमहल को हिन्दुओं का मंदिर घोषित करने और उसमें हिन्दुओं को ही पूजा करने का अधिकार देने की मांग के लिए आगरा की अदालत में याचिका दायर की गई थी।

आपको बता दें कि ताजमहल पर हुए इस पूरे विवाद के बाद भी ताजमहल देखने के लिए आने वाले सैलानियों की संख्या में कोई कमी नहीं आई है। संस्कृति मंत्री महेश शर्मा ने सोमवार को लोकसभा में कहा कि सरकार को ऎसा कोई साक्ष्य नहीं मिला है जिससे ये साबित हो सके कि आगरा में बना ताजमहल पुराना हिंदू मंदिर था।

वहीं, एनसीपी नेता माजिद मेमन ने महेश शर्मा का ताज के संबंध में दिए गए बयान को पूरी तरह सच बताया। उन्होंने कहा कि सारी दुनिया जानती है, मुगलकाल में ताजमहल बनाया गया था। वहां हिंदू मंदिर होने का सवाल ही नहीं है।.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: