24 को नई सरकार का शपथ ग्रहण, सामने हैं कई चुनौतियाँ

गुवाहाटी

असम में कांग्रेस की एक लंबी परंपरा को तोड़ते हुए भाजपा की जीत ने इस बात को गलत साबित कर दिया कि उन राज्यों में बहुसंख्यकों की पार्टी नहीं जीत सकती जहाँ धार्मिक अल्पसंख्यक ख़ास तौर से मुस्लिमों की संख्या अधिक हो। 126 विधानसभा सीटों में से बीजेपी गठबंधन  87 सीटें हासिल कर दिसपुर में सरकार बनाने जा रही है। आगामी 24 तारीख को खानापाड़ा के वेटेरिनरी फील्ड में नई सरकार का शपथ ग्रहण समारोह होगा, साथ ही चुनौतियां बन कर सामने आएँगे वोह वादे जो चुनाव के समय जनता से किया गए थे I

24 को नई सरकार का शपथ ग्रहण, सामने कई चुनौतियाँ

इस बीच कल चुनाव में ऐतिहासिक जीत के बाद बीजेपी और गठबंधन पार्टियों में ख़ुशी की लहर देखी जा रही है। आज सुबह बीजेपी के सीएम पद के उम्मीदवार सर्वानंद सोनोवाल ने राज्य के मुख्य सचिव, डीजीपी और अन्य प्रशासनिक अधिकारियों के साथ बातचीत की। इसके अलावा बीजेपी के नवनिर्वाचित विधायकों के साथ भी हेंगराबाड़ी स्थित पार्टी मुख्यालय में एक बैठक में शामिल हुए। इस दौरान पत्रकारों से बातचीत में सर्वानंद सोनोवाल ने कहा कि वे असम की जनता के हित में काम करेंगे और जिस उम्मीद से जनता ने उन्हें भारी बहुमत से जिताया है  उन उम्मीदों को पूरा करेंगे। इधर बीजेपी नेता डॉ. हिमंत विश्व शर्मा ने बताया कि आगामी 22 तारीख को बीजेपी विधायक दल की बैठक होगी जिसमें औपचारिक रूप से विधायक दल के नेता चुने जाएंगे। इस दौरान केंद्र की ओर से असम के लिए नियुक्त दो पर्यवेक्षक ओम माथुर और केंद्रीय मंत्री थारवचंद्र गहलोत उपस्थित रहेंगे। वहीँ 23 मई को बीजेपी गठबंधन के विधायकों की बैठक होगी।

दूसरी ओर बीजेपी और बीपीएफ के बीच भी विधायक दल के चयन पर आज एक महत्वपूर्ण बैठक आयोजित हुई।

24 को नई सरकार का शपथ ग्रहण, सामने कई चुनौतियाँपरिवर्तन तथा चहुंमुखी विकास की उम्मीद में इस बार असम की जनता ने एक ऐसी पार्टी को ऐतिहासिक जीत दिलाई है जो आज तक पूर्वोत्तर में अपनी जड़ नहीं जमा पाई। यह पहली बार है जब असम में बीजेपी की सरकार बनने जा रही है। ऐसे में असम की जनता से किए गए वादों को निभाने की चुनौती अब नई सरकार के सामने होगी।

चुनाव के दौरान  असम की जनता से किए कुछ वादे जो चुनौतियाँ बन कर नई सरकार के सामने आ सकती है वोह हैं  :

 1. केंद्र के साथ मिलकर भारत-बांग्लादेश सीमा को सील करना, संदिग्ध नागरिकों की शिनाख्त करना
2. घुसपैठियों को काम पर लगाने वाले उद्योगों और व्यवसायियों के खिलाफ कानून बनाना
3. घुसपैठियों से असम की धर्म, संस्कृति और जमीन को मुक्त कराना
4. राज्य सरकार की नौकरियों में महिलाओं के लिए 30 प्रतिशत आरक्षण
5. राज्य में राजस्व वृद्धि
6. बराक नदी पर 5 पुलों का निर्माण
7. सभी बीपीएल परिवारों के लिए 2021तक पक्के घरों का निर्माण
8. 30 नए आईटीआई बनाना
9. असम के हर घर तक निःशुल्क सेनेटरी नैपकिन और आयरन टेबलेट की व्यवस्था
10. लड़कियों के लिए मेट्रिक से विश्वविद्यालय तक निःशुल्क पढ़ाई की व्यवस्था, साथ ही कॉलेज से 15 किलोमीटर दूर रहने वाली हर छात्रा के लिए स्कूटी
11. पर्यटन को बढ़ावा देना

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: