फाइटर प्लेन के लैंडिंग के साथ हुआ देश के सबसे बड़े एक्सप्रेस-वे का उद्घाटन

लखनऊ

ऐसा पहली बार हुआ कि जब किसी रोड के उद्घाटन समारोह में फाइटर प्लेन भी शामिल हुए हों. जी हाँ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आज देश के सबसे लंबे आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे का उदघाटन फाइटर प्लेन के लैंडिंग के साथ किया. जानकारी के मुताबिक इस एक्सप्रेस वे के निर्माण की लागत 15000 करोड़ बताई जा रही है.

इससे पहले शुक्रवार को एक्सप्रेस-वे पर फाइटर प्लेन उतारने के लिए ट्रायल किया गया था. ऐसा डिफेंस मिनिस्ट्री के प्लान के तहत किया गया था, जिससे यह जांचा जा सके कि आपातकाल की स्थिति में एयर फील्ड्स खाली न होने पर फाइटर जेट को हाई-वे पर उतारा जा सकता है या नहीं. इस जेट लैंडिंग के गवाह रहे अधिकारी सड़क दुर्घटना में घायल हो गए थे। हाल ही में सीएम अखिलेश यादव ने अपने परिवार के साथ एक्सप्रेस-वे की यात्रा की थी और उसके बाद लोगों को चेतावनी दी थी। उन्होंने लोगों से एक्सप्रेस-वे पर सावधानी से गाड़ी चलाने और 100 से ज्यादा स्पीड न रखने का आग्रह किया था.

उत्तर प्रदेश सरकार का दावा है कि एक्सप्रेस-वे के मुख्य कैरिज वे का निर्माण 23 माह के रिकॉर्ड समय में किया गया है. एक्सप्रेस-वे आगरा से शुरू होकर फिरोजाबाद, मैनपुरी, इटावा, औरैया, कन्नौज, हरदोई, कानपुर, उन्नाव होते हुए लखनऊ तक पहुंचेगा. 302 किलोमीटर लंबे इस एक्सप्रेस के चलते आगरा से लखनऊ की दूरी तय करने में तीन से साढ़े तीन घंटे तक का वक्त कम लगेगा. जबकि दिल्ली से लखनऊ की दूरी तय करने में 5 से 6 घंटे का वक्त बचेगा. धुंध और दुर्घटना कम हो इसके लिए ऑटोमैटिक मैनेजमेंट सिस्टम का इस्तेमाल किया गया है.

बांगरमऊ और गंज-मुरादाबाद के बीच के तीन किलोमीटर के स्ट्रेच को फाइटर जेट की लैंडिंग और टेक ऑफ के लिए चुना गया. यूपी सरकार के मुताबिक, आपातकाल में भारतीय वायु सेना के लड़ाकू विमानों के ऑपरेशन के लिए एक्सप्रेस वे पर देश के पहले एयर स्ट्रिप का भी निर्माण किया गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: