NORTHEAST

मिजोरम चुनाव: बीजेपी इसाइयों के लिए कभी खतरा नहीं- हिमंत बिस्वा शर्मा

भाजपा के मिज़ोरम चुनाव प्रभारी हिमंत बिस्वा शर्मा ने कहा, बेजीपी ईसाइयों के लिए कभी ख़तरा नहीं रही और न ही होगी.


आइजोल

बीजेपी कभी भी ईसाई समुदाय के लिए ख़तरा नहीं रही है और भविष्य में न कभी रहेगी, यह ब्यान है असम के वित्त मंत्री और भाजपा के मिज़ोरम चुनाव प्रभारी हिमंत बिस्व शर्मा का.

शर्मा ने  यह बातें हाल ही में  आइजोल में भाजपा कार्यालय ‘अटल भवन’ में पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि ‘भगवा पार्टी ईसाइयों के लिए कभी ख़तरा नहीं रही है और ऐसा भविष्य में भी कभी नहीं होगा.’ उन्होंने कहा, पूर्वोत्तर के भाजपा शासित राज्यों में सभी धार्मिक समुदायों के लोग शांतिपूर्वक रहते हैं.

बता दें की इस से पहले भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने ब्यान दिया था कि मिज़ोरम केलोग अगला क्रिसमस भाजपा की सरकार के तहत मनाएंगे .

बीते 17 अक्टूबर को आइजोल में बूथ स्तर के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कहा था, ‘बड़ी संख्या में आप लोगों को यहां देखने के बाद मैं यह सुनिश्चित करना चाहता हूं कि मिज़ोरम में अगला क्रिसमस भाजपा की सरकार के शासन में मनाया जाएगा.’

उन्होंने कहा था कि वह नगालैंड और मेघालय में सहयोग देने के लिए ईसाई समुदाय के भाइयो और बहनों को धन्यवाद देना चाहते हैं.

शाह ने यह बयान ईसाई बहुल मिज़ोरम में चुनाव से पहले भाजपा की ईसाई विरोधी छवि को ठीक करने के उद्देश्य से दिया था.

बता दें की मिज़ोरम में 40 सदस्यीय विधानसभा के लिए 28 नवंबर को चुनाव होने वाला है. भाजपा राज्य में अपने बलबूते चुनाव लड़ रही है .

अमित शाह की तरह ही हिमंत बिस्व शर्मा ने भी राज्य में भाजपा की सरकार आने की आशा जताई. शर्मा ने कांग्रेस पर राजनीतिक लाभ के लिए धार्मिक भावनाओं के इस्तेमाल का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि इसके इतर भाजपा सभी धार्मिक समुदायों के बीच शांतिपूर्ण सौहार्द्र, प्यार और भाईचारा चाहती है.

उन्होंने कहा, ‘भाजपा राज्य में अपने दम पर चुनाव लड़ेगी और उसे जीत की उम्मीद है क्योंकि मिज़ो समुदाय के लोग अच्छी सरकार और अच्छा शासन पाने हक़दार हैं.’ उन्होंने कहा कि सिर्फ़ भाजपा ही ऐसी पार्टी है जो अच्छा शासन और विकास दे सकती है.

Tags

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close