मंत्री स्मृति इरानी ने घायल पापा की मदद नहीं की: संदिली का आरोप

मथुरा

 दो दिन पहले मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी की कार दुर्घटना मामले ने एक नया मोड़ ले लिया है | इस दुर्घटना में बाइक सवार डॉक्टर रमेश नागर की मौत हो गई और अब उनके परिवार ने एफआईआर दर्ज करवाई है जिसमें लिखा गया है कि एक्सप्रेसवे पर एचआरडी मंत्री के काफिले की गाड़ी से भिड़ने पर नागर की मौत हुई है।

आगरा के रहने वाले नागर की बेटी संदिली ने आरोप लगाया है कि मेडिकल मदद न मिलने की वजह से उनके पिता की सड़क पर ही मौत हो गई। संदिली अपने पिता और परिवार के एक और सदस्य के साथ शादी में जा रही थी। संदिली ने यह भी कहा कि उन्होंने मदद के लिए मंत्री से गुहार लगाई थी लेकिन स्मृति ईरानी उन्हें अनदेखा कर दूसरी गाड़ी में बैठकर निकल गईं। संदिली ने आरोप लगाया अगर मंत्री जी चाहती तो हमारी मदद कर सकती थीं। अगर वह हमारी मदद करती तो मेरे पिता हमारे साथ होते।’

SMRITI IRANI TWEET

बगौर तलब है कि स्मृति ईरानी, बीजेपी युवा शाखा के मथुरा में अधिवेशन से दिल्ली लौट रही थीं जब यह हादसा हुआ। मंत्री ने इस घटना के बाद ट्वीट करके अपने सुरक्षित होने की जानकारी दी थी। साथ ही यह भी बताया था कि कई गाड़ियां आपस में भिड़ी जिसमें उनके काफिले के वाहन भी शामिल थे। ईरानी ने यह भी बताया था कि उन्होंने सुनिश्चित किया की घायलों को अस्पताल पहुंचाया जाए और उन्होंने इस काम में मदद करने वाले दूसरों लोगों को धन्यवाद भी दिया था।

लेकिन अब हादसे में मारे गए रमेश कुमार नागर की बेटी संदली ने एक टीवी चैनल से बातचीत में कहा कि मंत्री स्मृति इरानी ने मेरे घायल पापा की कोइ मदद नहीं की | संदली का आरोप है कि ”एक्सीडेंट के बाद हमने पापा को जल्द हॉस्पिटल ले जाने की बात की थी लेकिन कोई तैयार नहीं हुआ| इस बीच स्मृति नीचे उतरीं और पापा को देखने के बाद फिर कार में बैठ गईंI इसके बाद शीशा चढ़ाया और निकल गईं|”

बेटे अभिषेक ने आरोप लगाया कि, ”उन्होंने एक बार भी हमारी हालत जानने की कोशिश नहीं की|”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: