कोकराझार हमला- ऑटो रिक्शा में सवार होकर आए थे एनडीएफबी (एस) उग्रवादी

गुवाहाटी 

रक्षा मंत्रालय के पीआरओ की ओर से जारी प्रेस रिलीज के मुताबिक ऑटो रिक्शा में सवार होकर आए एनडीएफबी (एस) उग्रवादियों ने कोकराझार शहर के बालाजान तिनयाली बाजार में धुंआधार गोलीबारी की जिसमें 13 नागरिक मारे गए वही 18 अन्य घायल हो गए। मौके पर मौजूद सेना के गश्ती दल ने फौरन कार्रवाई करते हुए इलाके को घेर लिया।सेना ने मौके पर ही उग्रवादी को मार गिराया। सेना की त्वरित कार्रवाई ने व्यस्त बाजार में और लोगों को मौत के मुंह में जाने से बचा लिया।  सेना ने इलाके में तलाशी अभियान छेड़ दिया है, इसके लिए विशेष टुकड़ियों और कुत्तों की मदद ली जा रही है। उग्रवादियों के खिलाफ यह अभियान जारी रहेगा।
मुख्यमंत्री सर्वानंद नोवाल का ट्वीट –

मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने ट्वीट किया है कि ” हमारी सरकार इन उग्रवादी संगठनों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करेगी।”उन्होंने मृतकों के परिवार को 5 लाख और घायलों को 1 लाख रूपए मुआवजा राशि देने की घोषणा की है। उन्होंने कहा, ” प्रधानमंत्री और गृह मंत्री ने भी इस घटना पर मुझसे कुछ समय बात की है। उन्होंने घटना पर शोक प्रकट किया है। हमारी सरकार असम की जनता की सुरक्षा के लिए प्रतिबद्ध है। शीर्ष आधिकारियों को को घटनास्थल पर भेज दिया गया है।”

kokrajhar-firing-2

इसे भी पढ़ें: असम- कोकराझार में ब्लास्ट, फाईरिंग, 12 की मौत 30 घायल

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी का ट्वीट

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट करते हुए कोकराझार हमले पर दुःख प्रकट किया है। उन्होंने आश्वासन दिया है कि गृह मंत्रालय असम सरकार के संपर्क में है और परिस्थिति का गंभीरता से जायजा ले रही है। “हम घटना की कड़े शब्दों में निंदा करते है। मृतकों के परिवारवालों और घायलों के साथ हमारी संवेदना है।

इसे भी पढ़ें: असम- कोकराझार हमला में हमलावर रेन कोर्ट पहन कर आए थे

गृह मंत्री राजनाथ सिंह का ट्वीट

गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने ट्वीट किया है कि असम के मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल में मुझे कोकराझार की परिस्थिति से अवगत कराया है। गृह मंत्रालय की घटना पर नजर है। पुलिस ने अब तक 13 शवों को बरामद किया है। इलाके में तलाशी अभियान जारी है। उग्रवादियों के समीपवर्ती घरों में छिपे होने की आशंका के मद्देनजर पुलिस और सुरक्षाबलों ने पूरे इलाके को घेर रखा है। घायलों में अधिकाँश की हालत गंभीर है और उन्हें समीपवर्ती अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। हालांकि अब तक घायलों की सही संख्या का पता नहीं चल पाया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *