जानिए: आधी रात को क्यों जल उठा जयपुर

जयपुर

जयपुर शहर में शुक्रवार शाम को पुलिस कांस्टेबल और बाइक सवार एक दम्पति के बीच हुए मामूली विवाद के बाद देर रात उपद्रव फैल गया और शहर का एक हिस्सा धू धू कर जलने लगा I

दरअसल जयपुर शहर के रामगंजा थाना क्षेत्र में ठेलों एवं ई-रिक्शों के कारण हो रहे जाम इन्हे हटाने के लिए पुलिस की टीम वहाँ पहुंची थी । इसी दौरान घाटगेट निवासी साजिद अपनी पत्नी और बेटी के साथ बाइक पर वहां से गुजर रहे थे। ई-रिक्श हटा रहे पुलिसकर्मी का डंडा साजिद की बाइक पर लगा जिससे वे अनियंत्रित होकर गिर गए । पुलिसकर्मी और साजिद के बीच विवाद हुआ और फिर अन्य पुलिसकर्मियों ने समझा कर उन्हे रिपोर्ट दर्ज कराने के लिए पुलिस थाने भेज दिया और मामला रफा दफा हो गया ।

लेकिन रात करीब साढ़े नौ बजे एक वर्ग विशेष के लोग रामगंज पुलिस थाने के बाहर एकत्रित होने लगे और साढ़े दस बजे तो पुलिस थाने के अंदर घूस गए । देखते ही देखते मामला हिंसा में बदल गया I बाहर से पथराव जारी था,पास ही एक पॉवर स्टेशन सहित दो दर्जन वाहनों को  भीड़ ने आग लगा दी ।

हिंसक भीड़ को काबू में करने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़ने के साथ ही रबर की गोलियां दागी, हवाई फायर भी किए। इस दौरान मोहम्मद आदिल नामक एक युवक की मौत हो गई, वहीं दो दर्जन लोग घायल हो गए, घायलों में आठ पुलिसकर्मी शामिल है।

हालात बिगड़ते देखकर पुलिस कमिश्नर संजय अग्रवाल ने रात ड़ेढ़ बजे चार पुलिस थाना क्षेत्रों रामगंज, माणकचौक, सुभाष चौक और गलता गेट में कर्फ्यू लगाने की घोषणा की। और रात दो बजे इंटरनेट पर रोक लगा दी गई ।

बहरहाल जयपुर से दिल्ली और आगरा जाने वाले वाहनों का रूट डायवर्ट किया गया गया है । शनिवार दोपहर शहर शांति समिति की बैठक हुई, जिसमें तय किया गया कि समिति के सदस्य चारों थाना क्षेत्रों के घरों में जाकर  लोगों को समझाने का काम करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: