स्वच्छ भारत अभियान- 100 ऐतिहासिक स्थलों में कामख्या भी शामिल

गुवाहाटी

स्वच्छ भारत अभियान में अब देश के 100 ऐतिहासिक धरोहरों, धार्मिक तथा सांस्कृतिक स्थलों का चयन किया गया है जिनमें असम के कामख्या मंदिर का भी नाम है| केंद्र ने इन स्थलों की ख़ास साफ-सफाई पर ध्यान केंद्रित किया है| प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दिशा-निर्देश पर स्वच्छता का यह ख़ास अभियान चलाया जाएगा| इस पहल में पेय जल और स्वच्छता मंत्रालय, शहरी विकास मंत्रालय, सांस्कृतिक मंत्रालय , पर्यटन मंत्रालय और संबंधित राज्य सरकारें मदद करेंगी|

स्वच्छ भारत अभियान- 100 ऐतिहासिक स्थलों में कामख्या भी शामिलइस विशेष पहल के पीछे इन सौ स्थानों को स्वच्छ पर्यटन स्थल का रूप देना है जिससे देश-विदेशों से आने वाले पर्यटकों के लिए उनकी यात्रा यादगार बन सके|

पहले चरण में जिन ऐतिहासिक स्थलों को स्वच्छता अभियान के लिए चुना गया है उनमें पंजाब के अमृतसर का स्वर्ण मंदिर, जम्मू-कश्मीर का वैष्णो देवी मंदिर, आगरा का ताज महल, आँध्रप्रदेश का तिरुपति मंदिर, राजस्थान का अजमेर शरीफ दरगाह, महाराष्ट्र का छत्रपति शिवाजी टर्मिनस, वाराणसी का मणिकर्णिका घाट, तमिलनाडु का मीनाक्षी मंदिर, असम का कामख्या मंदिर और ओड़िसा का जगन्नाथ पूरी शामिल है|

आप को मालूम होगा कि ब्रहमपुत्र के किनारे गुवाहाटी के नीलाचल पर्वत पर कामरूप कामाख्या देवी का धाम युगों युगों से प्रसिद्ध है जिस के दर्शन मात्र से ही न जाने कितने लोगों की मनोकामनाएं पूर्ण हो जाती हैं| यही कारण है कि कामाख्या धाम में साल भर भक्तों का आना जाना लगा रहता है | कामाख्या तन्त्र-मंत्र के शक्ति पीठ के रूप में भी जाना जाता है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: