अंतरराष्ट्रीय योग दिवस- देश विदेश में ज़बरदस्त उत्साह

नई दिल्‍ली

आज यानी 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया रहा है,  देश-विदेश me है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पहल पर योग को विश्व दिवसों में शामिल करने के बाद दुनियाभर में योग को बढ़ावा मिलने लगा है।  भारत में मुख्य कार्यक्रम चंडीगढ़ के कैपिटल कॉम्प्लेक्स में किया जा रहा है जहां पीएम मोदी मौजूद हैं।

पीएम मोदी 30 हजार लोगों के साथ योगाभ्यास करने पहुंचे। योगाभ्यास से पूर्व देश को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि योग ही एक ऐसा माध्यम है जो जीरो रुपये में हेल्थ इंश्योरेंस देता है। यहां लोगों को संबोधित करते हुए उन्होंने ये बातें कहीं। पीएम मोदी ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र द्वारा घोषित बहुत सारे दिवस हैं पर शायद योग दिवस ही एक दिवस है जो आज जनांदोलन बन गया है। हमारे पूर्वजों ने जो हमें विरासत दी है, योग इसी की पहचान कराता है। योगासन एक तरह का जीवन अनुशासन है। कभी कभी लोग इसकी क्षमता को समझ नहीं पाते, योग लेने के लिए नहीं बल्कि मैं क्या छोड़ पाउंगा इसी का मार्ग है। योगा मुक्ति का मार्ग है पाने का नहीं। येाग का शारीरिक और मानसिक संतुलन का मार्ग है।

अंतरराष्ट्रीय योग दिवस- देश विदेश में ज़बरदस्त उत्साह

योग गुरु बाबा रामदेव भी आज फरीदाबाद में योगाभ्यास आयोजन कर रहे हैं।  यहाँ करीब एक लाख लोग बाबा रामदेव के नेतृत्व में योगाभ्यास कर रहे हैं । फरीदाबाद में  बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह भी पहुंचे हैं । यहाँ बाबा रामदेव विश्व रिकार्ड बनाने का प्रयास कर रहे हैं I

  • 100 मिनट से ज्यादा शीर्षासन का विश्वरिकॉर्ड बनाने की कोशिश कर रहे हैं I
  • 6 योग प्रैक्टिसनर सूर्य नमस्कार 1500 से अधिक बार करने का विश्व रिकॉर्ड I
  • एक साथ 400 से ज्यादा लोग पुशअप लगाने का रिकॉर्ड बनाएंगे I

इस बार अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाने के लिए लोगों में काफी उत्साह नजर आ रहा हैं। योग को बढ़ावा देने के लिए भारत, अमेरिका, चीन, कनाडा, ऑस्‍ट्रेलिया सहित कई देशों में योग पर विशेष कार्यक्रम आयोजित किए गए। दूसरे अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाने के लिए दुनिया के 170 से अधिक देशों में कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं । बता दें कि संयुक्त राष्ट्र महासभा ने पिछले साल एक ऐतिहासिक प्रस्ताव के माध्यम से 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस घोषित किया था।

दूसरा अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाए जाने से पहले एक वीडियो संदेश में मोदी ने कहा कि जब सितंबर 2014 में मैंने अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाने से जुड़ा नजरिया संयुक्त राष्ट्र महासभा में पेश किया था, तब मैंने भी उम्मीद नहीं की थी इस अवसर के लिए दुनिया के कोने-कोने से इतना भारी उत्साह दर्शाया जाएगा। मोदी ने कहा कि पिछले साल और अब एकबार फिर लोगों का सहयोग और भागीदारी ‘इस प्राचीन विधा को पोषित करने और बढ़ावा देने की प्रतिबद्धता को निभाता है और योग के ‘वसुधव कुटुंबकम’ की आदर्श अभिव्यक्ति होने की पुष्टि करता है।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: