धमाकों के बीच असम में धूमधाम से मनाया गया स्वतंत्रता दिवस, कोई हताहत नहीं

गुवाहाटी

स्वतंत्रता दिवस के दिन ही कड़ी सुरक्षा के बीच असम आज सिलसिलेवार 5 धमाकों से दहल उठा। ऊपरी असम के तिनसुकिया जिले में 4 जबकि शिवसागर जिले में 1 विस्फोट हुआ। लेकिन सब से अच्छी बात यह रही की इन धमाकों का समारोह पर कोई असर नहीं पड़ा और राज्य भर में पूरे धूम धाम से स्वंत्रता दिवस मान्या गया I धमाकों में भी कोई हताहत नहीं हुआ है।

70 वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर गुवाहाटी के खानापाड़ा खेलमैदान में मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने तिरंगा फहराया। मुख्यमंत्री ने अपने भाषण में परिवर्तन का उल्लेख करते हुए कई महत्वपूर्ण घोषणाएं की। उन्होंने कहा कि “हम बातों से नहीं काम करके दिखाएंगे। हम असम को भारत के 5 विकसित राज्य में से एक बनाएंगे।” उन्होंने आतंकवाद से भी कड़ाई से निपटने का आश्वासन दिया। गांव की जनता के विकास के लिए उन्नत सड़क, तटबंध आदि बनाने की घोषणा की। चर तथा चाय बागान के निवासियों के  लिए भी नई योजनाएं बनाने की सीएम ने घोषणा की। खेल जगत को महत्त्व देते हुए राज्य खेल परिषद की स्थापना की घोषणा के साथ ही पुलिस प्रशासन के आधुनिकीकरण और देरगांव के पुलिस प्रशिक्षण केंद्र को राष्ट्रीय स्तर के प्रशिक्षण केंद्र में विकसित किए जाने की भी उन्होंने घोषणा की। उन्होंने साथ ही आतंक से लड़ने और सामजिक सुरक्षा सुनिश्चित करने का आश्वासन दिया। गैंडों की हत्या रोकने के लिए कड़े कदम उठाने की बात कही। साथ ही माजुली में सांस्कृतिक विश्वविद्यालय के स्थापना की घोषणा की।

Sonowal-unfurl-tricolour-2

राज्य भर में हुए 5 धमाके, कोइ हताहत नहीं 

पहला विस्फोट तिनसुकिया के लाईपुली के सेना छावनी के पास हुआ। दूसरा विस्फोट फिलोबाड़ी के 2 नंबर बामुनगांव में हुआ जहाँ कूड़ेदान में बम को प्लांट किया गया था। फिलोबाड़ी में ही 12 अगस्त के दिन भी उल्फा (आई) द्वारा गोलीबारी की घटना को अंजाम दिया गया था जिसमें दो हिंदी भाषियों की मौत हो गई थी। हिंदी भाषियों को निशाना बनाकर ही यह गोलीबारी की गई थी।

डूमडूमा के बादलाबाटा चाय बागान के 6 नंबर लाइन में तीसरा विस्फोट हुआ जबकि मतस्यपट्टी में चौथा धमाका हुआ।

शिवसागर जिले के लाकुआ स्थित पथालीगढ़ इलाके में पांचवां विस्फोट हुआ। इस विस्फोट के चलते विस्फोटस्थल पर 3 फीट गहरा गड्ढा बन गया। इन सभी विस्फोटों के पीछे उल्फा (आई) का हाथ होने का संदेह जताया गया है।

स्वतंत्रता दिवस के दिन ही लोगों में विस्फोट के बाद दहशत का माहौल है। विस्फोट के बाद सुरक्षा व्यवस्था और कड़ी कर दी गई है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: