नहीं रहे हनुमंथप्पा, पूरा देश शोक में डूबा

नई दिल्ली

सियाचिन ग्लेशियर से चमत्कारिक रूप से जीवित निकाले गये बहादुर सैनिक लांस नायक हनमनथप्पा कोप्पाड नहें रहे, आज उन का निधन हो गया। उन के निधन से पूरा देश शोक में डूब गया है। उन्होंने सुबह 11 बजकर 45 मिनट पर अंतिम सांस ली।’ मद्रास रेजिमेंट के 33 वर्षीय सैनिक के परिवार में उनकी पत्नी महादेवी अशोक बिलेबल और दो वर्ष की एक बेटी नेत्रा कोप्पाड है। कर्नाटक के धारवाड़ के बेटादूर गांव के रहने वाले कोप्पाड 13 वर्ष पहले सेना से जुड़े थे। कठिन चुनौतियों से लोहा लेने में माहिर थे हनुमनथप्पा कोप्पड़।

भारत मी के वीर जवान हनुमंथप्पा को पूरा देश दे रहा है श्रद्धांजलि
भारत माँ के वीर जवान हनुमंथप्पा को पूरा देश दे रहा है श्रद्धांजलि

लांस नायक हनमनथप्पा सियाचिन ग्लेशियर में हिमस्खलन के बाद बर्फ में दब गए थे और घटना के छह दिन बाद राहतकर्मियों ने उन्हें खोज निकाला था। उनके शरीर के कई अंग काम नहीं कर रहे थे, उनके दोनों फेफड़ों में निमोनिया के लक्षण पाए गए थे, तथा उनके दिमाग तक ऑक्सीजन नहीं पहुंच रहा थी। गुरुवार की सुबह जारी किए गए मेडिकल बुलेटिन में उनकी हालत बेहद गंभीर बताई गई थी।

हनुमंतप्पा के निधन पर पीएम मोदी सहित कई लोगों ने ट्विटर पर दुख जताया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर अपनी संवेदनाएं व्यक्त की हैं। उन्होंने कहा कि “वो हमे दुखी छोड़ कर चले गए. आपके अंदर का सैनिक हमेशा ज़िंदा रहेगा. गर्व है कि आप जैसे देशभक्तों ने भारत की सेवा की.”

प्रधानमंत्री के अलावा रक्षामंत्री मनोहर पर्रिकर और कांग्रेस पार्टी प्रमुख सोनिया गांधी ने भी इस खबर पर दुख जताया है। राहुल गांधी ने भी ट्वीट किया, “हनमनथप्पा ने दुनिया को दृढ़ता और साहस का सही मतलब बताया.” हनुमंतप्पा के निधन पर अमित शाह ने भी दी श्रद्धांजलि है। उन्होंने कहा कि देश आपके बलिदान को कभी नहीं भूलेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: