काला धन निकलवाने में सरकार असफल, केवल 638 लोगों ने किया 3770 करोड़ के काले धन का खुलासा

News desk/ nesamachar.in

विदेशों में कालाधन छुपाने वालों के लिए सरकार की ओर से तय की गई अंतिम समय सीमा के तहत देशभर में महज 638 लोगों ने 3770 करोड़ रुपये के कालेधन का खुलासा किया है।

सीबीडीटी की अध्यक्ष अनिता कपूर ने बताया कि कंप्लायेंस विंडो पर तीन महीने के दौरान कुल 638 लोगों ने 3770 करोड़ रुपये का खुलासा किया। इन्हें 31 दिसंबर 2015 तक कर और जुर्माने की रकम की अदायगी करनी होगी।

इससे न सिर्फ आयकर विभाग के अधिकारी बल्कि वित्त मंत्रालय के अधिकारी भी स्तब्ध हैं। अब इस बात की रणनीति बनायी जा रही है कि कालेधन को विदेशों में छुपाने वालों के खिलाफ क्या और कैसे कार्रवाई हो।
हालांकि इस बात की कोई सटीक जानकारी नहीं है कि विदेशों में भारत का कितना कालाधन छुपाया गया है। लेकिन आधिकारिक और गैर आधिकारिक मंचों से जो भी अनुमान आता रहा है, उसके मुकाबले काफी कम राशि का खुलासा हुआ है।

इसलिए केन्द्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड -सीबीडीटी- के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ मंथन की जा रही है। उसके बाद तय किया जाएगा कि कालाधन छुपाने वालों को पकड़ने के लिए क्या-क्या किया जाए।

इन लोगों पर 30 फीसदी की दर से कर लगाया जाएगा जबकि 30 फीसदी का जुर्माना लगाया जाएगा। यह कंप्लायेंस विंडो इसी वर्ष एक जुलाई को खोला गया था। जिन्होंने इसके तहत खुलासा नहीं किया, उस पर क्या कार्रवाई होगी।

इसके लिए विभाग की रणनीति बन रही है। ऐसे लोगों पर ब्लैक मनी -अनडिस्क्लोज्ड फॉरेन इनकम एंड एसेट- एंड इंपोजिशना ऑफ टैक्स एक्ट 2015 के तहत कार्रवाई होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: