GJM का बेमेयादी दार्जीलिंग बंद- हिंसक वारदातों के बीच जन जीवन ठप

दार्जिलिंग

विश्वभर में प्रसिद्ध हिल स्टशन दार्जिलिंग को यह किस की नज़र लग गयी ? दो दिन से दार्जिलिंग जल रहा है. सरकारी स्कूलों में बंगला की पढाई अनिवार्य किये जाने के  राज्य सरकार के फैसले के विरोध में गोरखा जनमुक्ति मोर्चा GJM द्वारा शुरू किया गया आन्दोलन इतना जल्दी उग्र रूप ले लेगा इस का अंदाजा शायद किसी को भी नहीं था.

दार्जिलिंग और उस के आस पास के पहाड़ी इलाकों में सोमवार से गोरखा जनमुक्ति मोर्चा GJM द्वारा बुलाया गया बेमियादी बंद के चलते दार्जिलिंग में जन जीवन ठप हो गया है.  हज़ारों की संख्या में सैलानी होटलों में फंसे पड़े हैं.

कड़ी सुरक्षा के बावजूद बंद के पहले दिन बंद समर्थकों ने कई सरकारी दफ्तरों को आग के हवाले कर दिया.
इस मामले में पुलिस ने तीन लोगों को गिरफ्तार किया है. जबकि सात अन्य को हिरासत में ले लिया गया है.

गोरखा जनमुक्ति मोर्चा के लोगों ने हिल्स के बिंजाबारी स्थित बीडीओ आफिस को निशाना बनाया. यहां आग लगा दी गई. मोर्चा के लोगों ने सुकना ग्राम पंचायत कार्यालय को भी जबरदस्ती बंद करा दिया. सोनादय हाइड्रो प्रोजेक्ट आफिस पर भी मोर्चा के समर्थकों ने तोड़फोड़ की कोशिश की.

इस घटना के बाद  पूरे दार्जिलिंग और आस पास के पहाड़ी इलाकों में प्रशासन ने सुरक्षा बढ़ा दी है. हर ओर पुलिस और केंद्रीय बल के जवान नजर आ रहे हैं. गोरखा जनमुक्ति मोर्चा के नेताओं का कहना है कि उनका आंदोलन अभी जारी रहेगा.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: