महिलाओं तथा बच्चों की सुरक्षा के लिए केंद्र की चार स्तरीय रणनीति

गुवाहाटी 

पूर्वोत्तर राज्यों में महिलाओं तथा बच्चों की तस्करी रोकने के उद्देश्य से केंद्र ने चार स्तरीय रणनीति तैयार की है। यह जानकारी महिला तथा बाल विकास मंत्री मेनका गांधी ने दी। पहली रणनीति के तहत केंद्र ने पूर्वी-उत्तरपूर्वी क्षेत्र गुवाहाटी, सियालदह और जलपाईगुड़ी के तीन रेलवे स्टेशनों की शिनाख्त की है जहाँ से बड़ी संख्या में बच्चों तथा महिलाओं की तस्करी होती है। इसके अलावा महिलाओं तथा बच्चों की तस्करी के केंद्र समझे जाने वाले देश के 100 से अधिक रेलवे स्टेशनों की शिनाख्त की गई है।

चाइल्ड एडॉप्शन से संबंधित उत्तरपूर्वी राज्यों के क्षेत्रीय सम्मेलन को संबोधित करते हुए मेनका गांधी ने यह बात कही। गांधी ने कहा” इस तरह की तस्करी के लिए मुख्य रूप से रेलवे का प्रयोग होता है। इसलिए गुवाहाटी, सियालदह और जलपाईगुड़ी स्टेशन से आवाजाही करने वाले ट्रेनों पर नजर रखी जाएगी। इन तीनों स्टेशनों से आवाजाही करने वाले ट्रेनों में पोस्टर चिपकाए जाएंगे जिनमें रेलवे पुलिस और चाइल्डलाइन का फोन नंबर दिया रहेगा ताकि लोग किसी भी संदिग्ध घटना की सूचना दे सके। केंद्रीय मंत्री ने कहा ” पूर्वोत्तर राज्यों से महिलाओं और बच्चों की तस्करी अधिक होती है जिन्हें बाद में मलेशिया और थाईलैंड जैसे देशों में बेच दिया जाता है।

केंद्रीय मंत्री ने दूसरी रणनीति के बारे में बताते हुए कहा “हर राज्य में विशेष महिला पुलिस अधिकारी नियुक्त की जाएगी जो पुलिस के सहयोग से गांवों पर नजर रखेगी। अगर कोई भी महिला या बच्चा लापता होता है या किसी अत्याचार या तस्करी का शिकार होता है तो यह अधिकारी फौरन घटना की रिपोर्ट करेगी।

केंद्र की तीसरी रणनीति सभी मोबाइल फोन में पैनिक बटन लगाने की है । जब भी कोई व्यक्ति खतरा महसूस करेगा या खतरे में होगा तो वह इस पैनिक बटन को दबा सकता है जिससे फौरन एक SOS नजदीक के पुलिस थाने और करीब मौजूद 10 लोगों तक पहुँच जाएगी।

चौथी रणनीति के तहत केंद्र ने www.khoyapaya.gov.in नामक एक नया वेबसाइट भी खोला है जिसमें लापता बच्चों की तस्वीरें देखी जा सकती है। गांधी ने कहा कि कोई भी लापता बच्चे, सड़क पर पड़े बच्चे या फिर तस्करी के शिकार बच्चे की तस्वीर यहाँ अपलोड कर सकता है।

गांधी ने उम्मीद जताई कि अगर सही ढंग से इन रणनीतियों को लागू किया गया तो हम कई बच्चों और महिलाओं की जान बचा सकते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: