रांची-थाली नहीं था तो महिला मरीज को फर्श पर ही परोसा खाना

रांची

देश भर में सरकारी अस्पतालों में काम काज का एक और शर्मनाक तस्वीर सामने आई है. इस बार तस्वीर है झारखण्ड के सब से बड़े सरकारी अस्पताल रिम्स RIMS का जहां ऑर्थोपेडिक विभाग में भरती एक महिला मरीज को फर्श पर खाना परोस दिया गया क्योंकी उस के पास  थाली नहीं थी. थाली नहीं होने के कारण खाना बांटने वाले रिम्स के कर्मचारी ने महिला को कॉरिडोर के फर्श पर ही चावल, दाल व सब्जी परोस दिया.

rims-2ओडिशा- बेटी के शव गोद में उठाए पैदल चलते रहे माता पिता

जानकारी के मुताबिक, अस्पताल के आर्थो वार्ड के कॉरिडोर में एक महिला मरीज पलमति देवी ने जब किचन स्टाफ से खाना मांगा तो उन्हां ने पहले उसे जमकर फटकारा और फिर फर्श पर ही खाना परोस दिया.

अब इस तस्वीर को देख कर आप इस गरीब महिला की मजबूरी या फिर  रिम्स अस्पताल के कर्मचारियों की ला परवाही. सवाल उठता है कि क्या अस्पताल में गरीब मरीजों को खाना परोसने के लिए थाली की व्यवस्था भी नहीं है.

दिना मांझी अपने कन्धों पर पत्नी का शव उठाकर मीलों पैदल चला

आप को बता दें कि हर साल रिम्स पर योजना और गैर योजना मद में लगभग 300 करोड़ रुपए खर्च होते हैं. नई- नई चमचमाती बिल्डिंगें बनती जा रही हैं. करोड़ों की मशीनें कबाड़ में बदलती जी रही हैं। ऐसे में ये दृश्य रिम्स प्रशासन की पोल तो खोल कर रख ही दिया है  साथ ही साथ मानवता को भी शर्मसार कर दिया है.

ओडिशा- मर गई इंसानियत, शव के हड्डियां तोड़ कर बनाई गठरी

आप को याद होगा की कुछ दिन पहले ही ओडिशा ऐसी ही कुछ तस्वीरें आई थीं जिस देख कर पूरा देश शर्मसार हो गया था. एक तस्वीर में में एक पती को अपनी पत्नी का शव उठाये कई किलोमीटर तक पैदल चलते देखा गया था क्योंकी उसे अस्पताल प्रशासन ने वाहन नहीं दी थी. दो दिन बाद दूसरी तस्वीर आई जिस में   दो स्वीपर एक महिला के शव को ले जाने के लिए  शव की हड्डियां तोड़ कर शव का गठरी बनाते दिखाई पड़ रहे थे. जब की तीसरी तस्वीर में गरीब गरीब माता  पिता अपनी बेटी के शव को लेकर सड़क पर छह किलोमीटर तक पैदल चलते देखे गए थे. क्योंकि उन की बेटी का मृत्यु हो जाने की बाद एम्बुलेंस वाले ने उन्हें रास्ते में ही उतार दिया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: