यहाँ बिक रहा है 80 हज़ार रूपए लीटर दूध और 3 लाख रूपए किलो मीट

कच्चे  तेल का भंडार वाले देशों में शामिल वेनेजुएला इन दिनों गंभीर आर्थिक संकटों से जूझ रहा है . करेंसी में गिरावट आने के कारण एक लीटर दूध 80 हजार रुपए और  3 लाख रुपए में सिर्फ एक किलो मीट ही आ पाएगा.

न्यूज़ डेस्क

चलिए हम आप को ले कर चलते हैं उस देश में जहां एक लीटर दूध की कीमत 80 हज़ार रूपए, एक किलो मीट की कीमत 3 लाख रूपए  है. आप सोच रहे होंगे के हम मजाक कर रहे हैं तो बता दें की यह मजाक नहीं सच है.

चलिए पूरी खबर पढ़िए फिर आप भी कहेंगे कि यह मजाक नहीं सच है.

कच्चे तेल का भंडार वाले देशों में शामिल वेनेजुएला इन दिनों गंभीर आर्थिक संकटों से जूझ रहा है. यहां के आर्थिक हालात कितने ख़राब है इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि करेंसी में गिरावट आने के कारण एक लीटर दूध 80 हजार रुपए से अधिक की कीमत में बिक चुका है.  वहां पर एक ब्रेड की कीमत भी हजारों में हो चुकी है. 3 लाख रुपए में सिर्फ एक किलो मीट ही आ पाएगा. वेनेजुएला में खाने-पीने की चीजों के साथ-साथ दवाओं की भी भारी कमी है.

हालात इस कदर बिगड़ चुके हैं कि दस लाख लोग देश छोड़कर कोलंबिया जाने को मजबूर हो गए हैं. इसकी सबसे बड़ी वजह वैश्विक स्तर पर कच्चे तेल की कीमतों में आई गिरावट के अलावा सरकार की गलत नीतियां भी जिम्मेदार हैं.

उल्लेखनीय है कि कोलंबिया ने इस संकट को देखते हुए दुनिया भर के बड़े बड़े देशों से मानवीय आधार पर मदद मांगी है.

वेनेजुएला की सरकार आर्थिक संकट को खत्म करने में नाकाम रही है . भुखमरी के कारण हर रोज वहां की सड़कों पर नागरिक प्रदर्शन कर रहे हैं.

बता दें कि इसीलिए वेनेजुएला के पड़ोसी देश मेक्सिको, ब्राजील, अर्जेंटीना, चिली, स्पेन समेत यूरोपीयन यूनियन भी अब उसके पूरी तरह से खिलाफ हो चुके हैं.

पेरू की राजधानी लीमा में अप्रैल में प्रस्तावित सम्‍मेलन में वेनेजुएला के राष्‍ट्रपति निकोलस माडुरो को न बुलाने पर सहमति दे दी है .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: