किसानों की दिक्कतें बढ़ी, अज्ञात कीड़े और बीमारी से खेती नष्ट

दरंग

एक अज्ञात कीड़े और बिमारी की वजह से दरंग जिले के दलगाँव राजस्व सर्किल की हजारों बीघा जमीन पर माटी कलाई दाल की खेती नष्ट हो गई है| अज्ञात बीमारी और कीड़े की वजह से किसानों में हाहाकार मचा हुआ है| अपनी आँखों के सामने ही अपने खेतों को नष्ट होता देख किसान सिर पर हाथ धरे बैठे है|

worm-2ब्रह्मपुत्र के उत्तरी छोर पर स्थित बदली बराली गाँव के आवेद अली नामक एक किसान ने पत्रकारों को बताया कि वह विगत कई वर्षों से माटी कलाई दाल की खेती कर रहा है और प्रति वर्ष प्रति बीघा जमीन में करीब 16 से 20 मन दाल का उत्पादन करता है| लेकिन इस वर्ष खेती को मानों किसी की बुरी नजर लग गई है| वर्ष के शुरुआत में ही नेक ब्लास्ट बिमारी के कारण धान की खेती नष्ट हो गई थी| उसके बाद आर्मी वार्म नामक एक कीड़े ने धान की पूरी खेती नष्ट कर दी| इन सबके बाद अब एक अज्ञात बीमारी जिसे गाँव में सफेदी कहते है, इलाके के हजारों बीघा खेतों को नष्ट कर दिया है| और तो और एक विशेष प्रकार के कीड़े ने भी किसानों की नाक में दम कर रखा है|

worm-3किसान ने बताया कि यह अज्ञात कीड़ा पहले जमीन के अंदर जाकर कलाई दाल के पौधों की जड़े काट देता है जिससे पौधा पिला होकर धीरे-धीरे सूख जाता है| इस वृहद इलाके में करीबन 2000 बीघा जमीन पर माटी कलाई दाल की खेती होती है|

जिला कृषि विभाग या कृषि ग्राम सेवक के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने बताया कि इस क्षेत्र में न तो कृषि विभाग का कोई कर्मचारी आया है और ना ही कृषि विभाग से किसी किसान को कोई सहायता मिली है|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: