19 दिन तक बाढ़ में फंसे रहने के बाद हाथी ने दम तोड़ दिया

गुवाहाटी      By Shrawan Jha 

19 दिन बाढ़ में फंसकर जिंदगी और मौत से लड़ते हुए आखिरकार ओरांग राष्ट्रीय उद्यान के एक जंगली हाथी ने दम तोड़ दिया। वन विभाग खास तौर से विभाग के क्षेत्रीय अधिकारी चक्रपाणी राय के उदासीन रवैये और लापरवाही की वजह से इस हाथी को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा।

19 दिन बाढ़ में फंसे रहने के बाद हाथी ने दम तोड़ दिया
19 दिन तक बाढ़ के पानी में फंसा रहा हाथी

बता दें कि ओरांग राष्ट्रीय उद्यान से जंगली हाथियों का एक झुंड भोजन की तलाश में वन शिविर के समीप खेरनी चापरी में आया था। बाद में झुंड के सभी हाथी लौट गए लेकिन एक हाथी उन से बिछड़गया ।  बतया जा रहा है कि उस के एक पैर में चोट लगी हुई थी जिस के कारण वह ठीक से चल नहीं पा रहा था I इसी बीच लगातार बरसात से धनशिरी और ब्रह्मपुत्र नदी में उफान आने लगा और खेरनी चापरी बाढ़ में डूब गया। ऐसे में बिना भोजन के 19 दिन पानी में फंसे होने के बाद इस हाथी की दर्दनाक मौत हो गई।

वन विभाग इस हाथी के प्रति पूरी तरह उदासीन रहा। ओरांग राष्ट्रीय उद्यान के रेंजर चक्रपाणी राय ने भी हाथी को बचाने की कोई व्यवस्था नहीं की। बीते 19 दिनों में बाढ़ में फंसे स्थानीय लोगों ने ही इस हाथी के प्रति सहानुभूति दिखाई और उसे केले के पेड़ खाने को दिए।

हाथी की दर्दनाक मौत के बाद अब विभिन्न दल-संगठनों ने तीखी प्रतिक्रिया जताते हुए रेंजर चक्रपाणी राय के निलंबन की मांग की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: