बाढ़ में बहकर असम से बंग्लादेश पहुंचे हाथी की मौत

गुवाहाटी

ब्रह्मपुत्र की बाढ़ में बहकर असम से बांग्लादेश पहुंचने वाले जंगली हाथी ने आज आखिरकार दम तोड़ दिया| बंगबहादुर नामक इस हाथी की मौत के सही वजह का पता नहीं लग पाया है| हालांकि पोस्टमोर्टेम के बाद ही इस सिलसिले में कुछ कहा जा सकता है| 50 दिन तक जिंदगी और मौत से जूझने के बाद काफी कमजोर पड़ गए इस हाथी ने आखिरकार दम तोड़ दिया|

बाढ़ में बहकर गुवाहाटी से यह हाथी धुबड़ी पहुँच गया था और वहीँ कुछ दिन तक रहने के बाद यह पड़ोसी देश बांग्लादेश में बह गया था| बांग्लादेश पहुँचने के बाद इस हाथी का नाम बंगबहादुर पड़ा| कुछ दिनों तक यह हाथी दोनों देशों के वन्य जीव कार्यकर्ताओं की चर्चा का मुख्य विषय बना रहा| साथ ही राजनीतिक मुद्दा भी बन गया|  बाद में असम की टीम हाथी को वापस लाने बांग्लादेश पहुँची पर हाथी को ट्रंकक्यूलाइज नहीं कर पाने के चलते उन्हें अपना अभियान बंद कर खाली हाथ वापस लौटना पड़ा| 11 अगस्त को बांग्लादेश के वन कर्मियों ने हाथी को ट्रंकक्यूलाइज किया|

रविवार तक यह हाथी स्वस्थ दिख रहा था लेकिन उसके बाद वह कमजोर पड़ने लगा और आज उसने दम तोड़ दिया| ऐसे में यह सवाल भी उठ रहे है कि बांग्लादेश के वन अधिकारियों ने हाथी की देखरेख में लापरवाही बरती होगी जिस वजह से हाथी की जान चली गई| हालांकि बांग्लादेश के वन अधिकारियों ने इन आरोपों से इनकार करते हुए कहा है कि उन्होंने हाथी को बचाने की पूरी कोशिश की लेकिन बचा नहीं पाए|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: