दोहरा हत्याकांड मामला, 2 आरोपियों को सश्रम कारावास, 4 आरोपी दोषमुक्त

दरंग

दोहरे हत्याकांड के मामले में अदालत द्वारा यह ऐतिहासिक फैसला सुनाया गया है जिसके तहत 2 आरोपियों को सश्रम कारावास की सजा दी गई है| दरंग जिला सत्र न्यायाधीश ने जिला परिषद के पूर्व अध्यक्ष तथा कांग्रेस के प्रभावशाली नेता तफाजुल हक़ और उनके भाई चाँद मिया को 7 साल के सश्रम कारावास और 25-25 हजार रूपए जुर्माने की सजा सुनाई है|

1218 नवंबर को आईपीसी की धारा 364/302/34 के तहत सुनवाई करते हुए न्यायाधीश जी.बरुआ ने दोहरे हत्याकांड मामले में दोनों भाईयों को दोषी करार दिया था जबकि अन्य आरोपी अब्दुल कुदुस, जहिरुल इस्लाम, जाफर अली, हाकिम अली को दोष मुक्त कर दिया था|

22 जून 2008 के तड़के तफाजुल ने अपने भाई और दोषमुक्त किए गए अन्य चार लोगों के साथ मिलकर मंगलदै के नजदीक बाहापरी गाँव के अब्दुल मजिद और ढेकियाजुली के हामिदुर रहमान नामक शख्स पर चोरी का आरोप लगाते हुए अपने घर में दोनों की पिट-पिटकर ह्त्या कर दी थी| बाद में सुबह होने से पहले दोनों का शव मंगलदै सरकारी अस्पताल के सामने फेंक दिया था|

सुबह दोनों का शव बरामद होने के बाद स्थानीय लोग भड़क उठे और लोगों ने तफाजुल के घर में तोड़-फोड़ की| घटना के खिलाफ लोगों ने आंदोलन छेड़ दिया| महीनों तक सभी आरोपी फरार रहे| इसी बीच तफाजुल को लकवा मार गया और मौजूदा वह व्हीलचेयर के सहारे जीवन काट रहा है|

अब इस मामले में निर्णायक मोड़ लाते हुए अदालत ने तफाजुल को पुलिस हिरासत में जेल भेजा है| हालाँकि अपाहिज होने की वजह से चिकित्सकों की देख-रेख में उसे जेल भेजा गया है| वही अदालत के इस ऐतिहासिक फैसले से पीड़ित परिवार बेहद खुश है|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: