NORTHEAST

धूला पुलिस का कामयाब अभियान, जाली नोट बनाने वाले अंतर्राष्ट्रीय गिरोह का पर्दाफाश

मंगलदै

दरंग जिले के धूला पुलिस ने अभियान चलाकर जाली नोट बनाने वाले एक अंतर्राष्ट्रीय गिरोह का पर्दाफाश किया है| पुलिस ने इस सिलसिले में चार आरोपियों को रंगे हाथ गिरफ्तार किया है, साथ ही बड़ी मात्रा में 500 और 2000 रुपए के जाली नोट, कलर प्रिंटर्स, ब्लेंक पेपर्स और अन्य सामग्रियां बरामद की है|

इस संबंध में धूला थाना प्रभारी रंजीत हजारिका ने बताया कि कुछ दिनों से गुप्त सूचना के आधार पर पुलिस एक नेटवर्क पर कार्य कर रही थी| जिला पुलिस अधीक्षक क्षिजित थिराबियम के दिशा-निर्देश में पुलिस ने बीती रात थाना क्षेत्र के ओंदोलाआर गाँव में बिलाल हुसैन के घर में छापा मारा तो उसे जाली नोट बनाते हुए रंगे हाथ पकड़ा|

प्राथमिक पूछताछ के दौरान बिलाल ने कई महत्त्वपूर्ण खुलासे किए| पुलिस ने बिलाल की निशानदेही पर आज तड़के खारुपेटिया थाना के अंतर्गत गलंदीकास बगीचा के ताहेर अली के घर अभियान चलाकर एक लाख रुपया जाली नोट के साथ ताहेर अली को गिरफ्तार किया|

थाना प्रभारी रंजीत हजारिका के नेतृत्व में चलाए गए अभियान के क्रम में पुनः दो नंबर गलंदी गाँव में साइफुल  इस्लाम के घर अभियान चलाकर करीबन एक लाख रुपया जाली नोट के साथ उसे गिरफ्तार किया गया| अगले क्रम में पुलिस ने छापामारी कर एक लाख रुपए के जाली नोट के साथ सेरपुर गाँव के बककर अली को गिरफ्तार किया| इस तरह बुधवार की रात से आज सुबह तक अभियान चलाकर पुलिस ने यह कामयाबी हासिल की|

आरोपी बिलाल हुसैन ने बताया कि उसका कार्य केवल कलर प्रिंटर की मदद से जाली नोट बनाना था जबकि चालीस हजार रूपए लेकर वह एक लाख रुपए के जाली नोट अपने नेटवर्क के माध्यम से बाजार में छोड़ देता है| इस संबंध में ताहेर अली नामक एक अन्य आरोपी ने बताया कि करीब तीन साल पहले वह काम के सिलसिले में केरल गया था जहाँ उसकी पहचान मालदा के बांग्लादेश सीमावर्ती कालीपुर गाँव के एक युवक से हुई थी| उसी के कहने पर वह पिछले तीन साल से मालदा से जाली नोट लाकर अपने नेटवर्क के माध्यम से बाजार में चला रहा था| अब उसने प्रशिक्षण लेकर खुद धूला में जाली नोट बनाना शुरू किया है|

पुलिस पूरे मामले की गंभीरता से जांच कर रही है|

Tags

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close