काजीरंगा नेशनल पार्क की संरक्षण को ले कर न्यायालय चिंतित, जारी किया सख्त दिशा निर्देश

News desk/nesamachar.in

गुवाहाटी : शनिवार को गुवाहाटी उच्च नयायालय के खंड़पीठ ने गोलाघाट, सोनितपुर और नागांव के उप्यायुक्तों को काजीरंगा के सीमा मे रहने वाले लोगो के घरो पर बेदखली अभियान चलाने का निर्देश दिया है| उच्च नयायालय ने 1 महीने के अंदर इन इलाको पर बेदखली अभियान चलने का निर्देश दिया है|

KNP-4 KNP-5 KNP-3

नयायालय ने अपने रिपोट मे कहा है कि काजीरंगा के सीमा मे रहने वाले लोग जंगली जानवरों के लिए खतरा है| यह लोग काजीरंगा मे हो रहे अवैध शिकार का कारण है| उच्च नयायालय ने अपने रिपोर्ट मे यह भी कहा है कि शिकारियों को जानवरों के गतिविधियों के बारे मे अच्छी तरह से जानकारी रहती है| शिकारी जानवरों का शिकार करने के लिए पार्क के आस पास में बसे लोगों की मदद लिया करते हैं |

KNP-8  KNP-5  KNP-7

वन्य जीव अधिनियम मे यह साफ़ उलेख है की नेशनल पार्क के आस पास के इलाको मे किसी भी तरह की गतिविधियाँ नहीं होनी चाहिए और न ही वहां लोगों को रहने और बसने की इजाजत देनी चाहिए|

एक अलग याचिका पर भी फैसला सुनाते हुए (NO.82/2015) गुवाहाटी उच्च नयायालय ने काजीरंगा के फ्रंट लाइन स्टाफ मे खली 1300 पदों को 3 महीने के भीतर नियुक्ति करने का फैसला सुनाया है और साथ ही राज्य सरकार को इन दिनों खाली पदों को देखरेख के लिए निर्देश दिया है|

गुवाहाटी उच्च नयायालय ने विभिन्न समाचार पत्र न्यूज़ चैनलों मे दिखाई जाने वाली अवैध शिकारों की खबर पर ध्यान देते हुए जल्द से जल्द जानवरों के आवाजाही के गलियारों को खली करने का निर्देश भी जरी किया है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: