उत्तराखंड में बरपा कहर, बादल फटने से भारी नुक्सान

देहरादून

उत्तराखंड में एक बार फिर आसमान से कहर बरपा है I खबर है कि उत्तराखंड के पिथौरागढ़, चमोली और चंपावत में बादल फटने से भारी नुकसान हुआ है। इन ज़िलों में मकानों को भी बड़े पैमाने पर नुकसान पहुंचा है। बादल फटने से आये बाढ़ में कई लोगों के बह जाने की खबर है I पिथौरागढ़ में 5 और चमोली में 4 लोगों के शव अभी तक बरामद किए जा चुके हैं ।

झमाझम जारी बारिश की वजह से लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। सबसे ज्यादा मुश्किल हालात पहाड़ी ज़िलों के हैं। जहां एक और पिथौरागढ़ में आई बाढ़ में जहां 20 लोग लापता हुए हैं वहीं चमोली में 8 लोगों के बहने की सूचना है। इसके अलावा मकानों को भी बड़े पैमाने पर क्षति पहुंची है।uttarakhand-2

बदरीनाथ हाईवे भी मलबा आने से जगह-जगह बंद हो गया है। बदरीनाथ से गौचर के बीच करी‌ब तीन हजार यात्रियों को सुरक्षित स्थाननों पर रोका गया है। वहीं बारिश के चलते चमोली और पिथौरागढ़ जिले में कुदरत का कहर जारी रहा। इस घटना में 20 से अधिक लोगों के जिंदा दफन होने की आशंका जताई जा रही है।

पहाड़ी इलाकों में आफत की इस बारिश ने एक बार फिर 2013 में आई आपदा की याद दिला दी। नदियों में आई बाढ़ से कई घर बह गए और दो लोगों के भी बहने की खबर है। गढ़वाल के पहाड़ी इलाकों मे भारी बारिश के कारण अलकनंदा ऊफान पर आ गई और 2013 की आपदा जैसा मंजर आंखों के सामने फिर से आ गया। नदी किनारे रहने वाले लोग खौफ में आकर अपने घर छोड़कर सुरक्षित स्थान पर चले गए हैं। चमोली जनपद के घाट विकास खंड में मंदाकिनी नदी में बाढ़ आने से पुराने बाजार में स्थित दो मकान बह गए। एक बच्चे और बुजर्ग के बहने की भी खबर है।

जानकारी के अनुसार मौसम विभाग ने उत्तराखंड के अधिकांश स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश के साथ ही छिटपुट स्थानों खासतौर पर नैनीताल, उधमसिंह नगर और चंपावत जिलों में अगले 24 घंटों के दौरान भारी वर्षा की चेतावनी दी है।

इसे भे पढ़ें : उत्तराखंड में रेड अलर्ट, अगले 72 घंटे राज्य पर पड़ सकते हैं भारी

uttarakhand--3

मौसम केंद्र द्वारा जारी एक विज्ञप्ति में, नैनीताल, उधमसिंहनगर, चंपावत, अल्मोडा, पौडी, हरिद्वार, देहरादून और टिहरी जिलों में कल सुबह से 72 घंटों के दौरान कुछ स्थानों पर भारी से बहुत भारी बारिश तथा अन्य पांच जिलों में छिटपुट स्थानों पर भारी बारिश की चेतावनी दी गयी है।

आधिकारिक सूत्रों के अनुसार, मौसम विभाग की इस चेतावनी के मद्देनजर संबंधित जिला प्रशासन को मुस्तैद रहने के निर्देश जारी कर दिये गये हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: