चेन्नई- के. प्रितिका यशिनी बनी भारत की पहली ट्रांसजेंडर सब-इंस्पेक्टर

News desk/nesamachar

चेन्नई-  चेन्नई निवासी के. प्रितिका यशिनी भारत की पहली ट्रांसजेंडर सब-इंस्पेक्टर होगी। 25 वर्षीय प्रितिका को मद्रास हाईकोर्ट ने गुरुवार को सब-इंस्पेक्टर पोस्ट के लिए फिट कैंडिडेट घोषित किया करते हुए तमिलनाडु सेवा भर्ती बोर्ड को निर्देश दिया कि वह ट्रांसजेंडर प्रितिका यशिनी को पुलिस उप निरीक्षक के तौर पर तैनात करे क्योंकि वह यह नौकरी पाने का हक रखती है। न्यायमूर्ति संजय किशन कौल और न्यायमूर्ति पुष्पा सत्यनारायण की पहली पीठ ने बोर्ड को यह भी आदेश दिया कि अगली भर्ती प्रकिया से वह ‘तीसरे लिंग’ की श्रेणी में ट्रांसजेंडर को उसमें शामिल करे।

Madras-High-Court-1 pritika Yashini

गौर तलब है कि ट्रांसजेंडर के. प्रितिका याशिनी के आवेदन पत्र को प्रारंभिक तौर पर नामंजूर कर दिया गया था जिस पर वह उच्च न्यायालय चली गई। उसने उच्च न्यायालय में उच्चतम न्यायालय की उस व्यवस्था का हवाला दिया जिसमें केंद्र और राज्य सरकारों को ट्रांसजेंडरों को सामाजिक और शैक्षिक रूप से पिछड़ा मानते हुए उनके उत्थान के लिए कदम उठाने के निर्देश दिए गए थे एवं सरकारी भर्तियों और शैक्षिक संस्थानों में प्रवेश के लिए सभी प्रकार के आरक्षण के लाभ देने के भी निर्देश दिए थे।

याशिनी का जन्म के प्रदीप कुमार के रूप में हुआ था। उसने पुरुष के रूप में कोयम्बटूर से कम्प्यूटर एप्लीकेशन के रूप में पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा लिया। हालांकि उसे अपने स्कूली दिनों में शरीर में बदलाव महसूस होने लगा था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: