NATIONAL

नागरिकता कानून (CAA) को ले कर पूर्वी दिल्ली मे हिंसा, एक पुलिस कर्मी और नागरिक की मौत

दिल्ली के मुख्य मंत्री अरविन्द केजिरिवाल ने जताई चिंता,

नई दिल्ली  

संशोधित नागरिकता कानून (CAA) को ले कर पूर्वी दिल्ली के जाफराबाद jafarabad  और मौजपुर maujpur इलाके में हुई हिंसा में एक पुलिसकर्मी copऔर एक नागरिक civilian की मौत हो गई.  हेड कॉन्स्टेबल रतन लाल नामक यह शहीद पुलिसकर्मी एसीपी गोकुलपुरी दफ्तर में तैनात था.

आज यहां संशोधित नागरिकता कानून (CAA) का विरोध कर रहे और कानून के समर्थकों के बीच झड़प हुई. हिंसक लोगों की भीड़ को तितर-बितर करने पहुंचे पुलिसकर्मियों पर लोगों ने ईंट-पत्थर बरसाए. इस हमले में हेड कांस्टेबल रतनलाल पूरी तरह जख्मी हुए और उनकी मौत हो गई.

उपद्रवियों ने यहां पुलिस को अपना निशाना बनाया. जहां एक और पुलिस के ऊपर ईंट पत्थर बरसाए गए, वहीं डीसीपी शाहदरा की गाड़ी को भी दंगाइयों ने आग के हवाले कर दिया. इस हमले में डीसीपी समेत कई पुलिसकर्मियों को चोटें आई हैं.

जाफराबाद, मौजपुर, गोकुलपुरी समेत आसपास के कई इलाकों में सोमवार दोपहर घंटों तनाव की स्थिति बनी रही. पुलिस ने आंसूगैस के गोले छोड़कर उपद्रवियों को तितर-बितर करने का प्रयास किया. हिंसा पर उतारू उपद्रवियों ने गोकुलपुरी व आसपास के इलाके में दुकानों और कुछ घरो में तोड़फोड़ की. यहां पुलिस के अलावा अन्य वाहनों को भी आग के हवाले कर दिया गया.

हिंसा की इन वारदातों पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने चिंता जताते हुए कहा कि  किसी के भी द्वारा हिंसा बर्दाश्त नहीं की जाएगी. मेरी सभी लोगों से विनती है कि कृपया शांति बनाए रखें. हिंसा से कोई समाधान नहीं निकलेगा.

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ट्वीट किया, ‘दिल्ली में आज की हिंसा परेशान करने वाली है और इसकी निंदा की जानी चाहिए. शांतिपूर्ण विरोध स्वस्थ लोकतंत्र का प्रतीक है, लेकिन हिंसा को कभी भी उचित नहीं ठहराया जा सकता. मैं दिल्ली के नागरिकों से अनुरोध करता हूं कि वे उकसावे में नहीं आएं और संयम, करुणा और समझ दिखाएं.

Tags

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close