भारत-भूटान सीमा पर आयोजित होगा “भैरवकुंड महोत्सव”

गुवाहाटी

भारत-भूटान की अंतर्राष्ट्रीय सीमा में पहाड़ियों के बीच प्राकृतिक सौंदर्य से भरपूर मनमोहक पिकनिक स्थल भैरवकुंड में आयोजित होने जा रहा है “भैरवकुंड पर्यटन महोत्सव”। इस साल 20 से 23 जनवरी तक यहाँ “भैरवकुंड पर्यटन महोत्सव” का आयोजन किया जा रहा है। 3 दिवसीय इस कार्यक्रम के दौरान बीटीसी, भूटान और अरुणाचल प्रदेश के बीच सांस्कृतिक आदान-प्रदान, सम्मलेन, स्वयं सेवी समूहों द्वारा प्रदर्शनी आदि का आयोजन किया जाएगा। साथ ही उदालगुड़ी से भैरवकुंड तक हाफ मैराथन दौड़, अंतर्राज्य रेसलिंग कॉम्पिटिशन और कई अन्य इवेंट कार्यक्रम में शामिल किए गए है।

Bhairav kund-1हाल ही में उदालगुड़ी के विधायक रिहन दैमारी की अध्यक्षता में आयोजक मंडली की इस सिलसिले में एक बैठक हुई। उदालगुड़ी से भैरवकुंड महज़ 20 किलोमीटर दूर है। भारत-भूटान अंतर्राष्ट्रीय सीमा पर स्थित भैरवकुंड अपने प्राकृतिक सौंदर्य की वजह से महत्वपूर्ण पिकनिक स्थल बना हुआ है। हज़ारों प्रकृतिप्रेमी हर साल प्राकृतिक सौंदर्य का लुत्फ़ उठाने भैरवकुंड आते है। यहाँ कल-कल बहती धनशिरि नदी लोगों को अपनी ओर आकर्षित करती है। यहाँ तक कि इस नदी में लोग मछली भी पकड़ते है।

भैरवकुंड अब एक छोटा सा शहर बन गया है जहाँ कई सरकारी कार्यालय भी है। पर्यटकों के लिए यहाँ एक टूरिस्ट लॉज भी बनाया गया है। भैरवकुंड महोत्सव का आयोजन भैरवकुंड पर्यटन केंद्र द्वारा किया जा रहा है जिनका उद्देश्य है भैरवकुंड को देश के पर्यटन मानचित्र में पहचान दिलाना। महोत्सव को बीटीसी का पर्यटन विभाग स्पांसर कर रहा है। मार्च 2005 में पहली बार भैरवकुंड महोत्सव का आयोजन हुआ था जिसमें विभिन्न स्थानों से हज़ारों लोगों ने हिस्सा लिया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: