असम- डिब्रूगढ़ के पास गावं वालों ने तेंदुए को मार डाला, फिर खा गए

 

डिब्रूगढ़

असम में हर दुसरे दिन मनुष्य और जानवरों  का आमना सामना होता रहता है I उन में अक्सर जानवर की हार होती है I कभी मनुष्य उसे मार देता है तो कभी उसे घायल कर छोड़ देता है I लेकिन हद तो तब हो जाती है जब उस जानवर को लोग न केवल मार देते हैं बल्की उस के मांस को आपस में बाँट कर खा जाते हैंI ऐसी ही एक खबर असम के डिब्रूगढ़ से आयी है जहां गावं वालों ने एक तेंदुए को मार डाला और फिर उस का मांस आपस में बाँट कर खा गए I

घटना शुक्रवार की सुबह की है तेंदुआ जंगल से रास्ता भटक कर नहारकटिया के जोयपुर क्षेत्र के माजो गांव में आ पहुंचा I बस फिर किया उस की तो शामत आ गयीI बजाए इस के कि उसे जंगल कीओर खदेड़ दिया जाता, बड़ी संख्या में गावं वाले लाठी और धारदार हथियार उस उस पर धावा बोल दिए कुछ ही मिनटों में तेंदुए को मार डाला I

खबर के अनुसार तेंदुए के हमले से गावं के सात लोग घायल हो गए थे । घायलों में से पांच की पहचान प्रदीप गोगोई, उपेन गोगोई, जीतु गोगोई, अजय और भादेश्वर गोगोई के रूप में हुई है। तेंदुए के हमले में 60 साल के बुजुर्ग माकोन गोगोई गंभीर रूप से घायल हो गए थे। उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उसकी मौत हो गई। उस के बाद गावंवालों ने तेंदुए को घेर लिया तेद्नुए को मार कर माकोन गोगोई की मौत का बदला ले लिए ।

गौर करने वाली बात यह है कि पुलिस और वन विभाग के अधिकारी मौके पर पहुंच चुके थे फिर भी तेंदुए को नहीं बचाया जा सका।

थोड़े दिन पहले गुवाहाटी के पास धिरेनपाड़ा इलाके में एक तेंदुए ने ग्रामीणों पर हमला किया था। इसमें चार लोग घायल हो गए थे। इनमें एक नाबालिग भी शामिल था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: