असम में Electric Vehicle का प्रचार-प्रसार करने की योजना

गुवाहाटी

केंद्र के National Electric Mobility Mission Plan 2020 के तहत असम सरकार बड़े पैमाने पर Electric Vehicle का प्रचार-प्रसार करने की योजना बना रही है| NEMMP का लक्ष्य है 2020 तक सड़क पर 50 से 60 लाख इलेक्ट्रिक वाहनों को उतारना|

इस मिशन के जरिए गाड़ी से निकलने वाले carbon-dioxide की मात्रा को  24 मिलियन टन घटाया जा सकेगा| इलेक्ट्रिक वाहन खरीदने वालों को NEMMP सब्सिडी भी देगा| भारत में इलेक्ट्रिक वाहनों की एकमात्र रजिस्टर्ड कंपनी Society of Manufacturers of Electric Vehicles (SMEV) ने हाल ही में इस सिलसिले में असम सरकार के साथ बैठक की|

देश के सभी राज्यों में इलेक्ट्रिक वाहन उपलब्ध कराने के लिए SMEV, Ministry of New and renewable Energy, Ministry of Heavy Industry और राज्य की नोडल एजेंसियों के साथ मिलकर काम कर रहा है| चरणबद्ध तरीके से इन इलेक्ट्रिक वाहनों के जरिए केंद्र सरकार धरती में ग्रीन हाउस गैस के रिसाव को कम करना चाहती है|

SMEV के निदेशक सोहिंदर गिल ने कहा, “हमने असम के परिवहन मंत्री चंद्र मोहन पटवारी से बात की है और उन्होंने असम की सड़कों पर इलेक्ट्रिक वाहनों को उतारने की इच्छा जताई है|” उन्होंने कहा कि कुछ मुश्किलें जरुर रहेंगी लेकिन फिलहाल इस पोलिसी को सड़क पर उतारना ही बड़ी चुनौती है और राज्य सरकारों के सहयोग के बगैर यह मुमकिन नहीं|”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: