GUWAHATINATIONALVIRAL

असम: पीएम मोदी ने कहा, असम अब तरक्की की दिशा में चल पड़ा है

गुवाहाटी

गुवाहाटी में आयोजित पहला ग्लोबल इंवेस्टर्स समिट का उद्घाटन करते हुए पेएम मोदी ने कहा कि ये असम’ अब तरक्की की दिशा में आगे चल पड़ा है.  उन्होंने कहा कि एक्ट ईस्ट पॉलिसी लोगों को जोड़ रही है.  उन्होंने कहा कि आसियान-इंडिया भागीदारी भले ही 25 साल पुरानी हो, लेकिन आसियान के सदस्य देशों के साथ हमारे संबंध हजारों साल पुराने हैं.

पीएम मोदी के भाषण की मुख्य बातें .

  • सम्मेलन को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा, ‘भारत की विकास में तेज़ी तभी आएगी जब देश के पूर्वोत्तर राज्यों और यहाँ के लोगों का विकास भी तेज गति से होगा.
  • सम्मेलन को ले कर पीएम मोदी ने कहा कि आज जितने व्यापक पैमाने पर ये आयोजन हो रहा है, कुछ वर्ष पहले तक कोई ऐसा सोच भी नहीं सकता था.’
  • इस मंच से देश के उद्यमी वर्ग का आभार व्यक्त करना चाहता हूं जिसने जीएसटी को स्वीकार किया है. हमारी सरकार ने दिवालिया कानून का मुद्दा भी उठाया है.
  • उजाला योजना के तहत देशभर में 28 करोड़ से ज्यादा एलईडी बल्ब बांटे जा चुके हैं। यह भारतीय ट्रडर्स के लिए एक अच्छा अवसर है. लक्ष्य तय करके काम पूरा करना इस सरकार की कार्य संस्कृति है.
  • गरीब महिलाओं को लकड़ी के धुएं से मुक्ति दिलाने वाली उज्जवला योजना। हमारा लक्ष्य 2019 तक पांच करोड़ गरीब महिलाओं को मुफ्त गैस कनेक्शन देना था. अब तक 3 करोड़ 30 लाख से ज्यादा महिलाओं को लाभ मिल चुका है. अब हमने तय किया है कि उज्जवला योजना के तहत 8 करोड़ महिलाओं को गैस कनेक्शन दिया जाएगा.
  • देश के नौजवान अपने दम पर कुछ करना चाहते थे लेकिन उन्हें बैंक से कर्ज नहीं मिलता था. मुद्रा योजना से हमने पिछले तीन वर्षों में 3 करोड़ नए कारोबारी पैदा किए हैं. इसके अलावा स्टार्ट-अप इंडिया, स्किल इंडिया जैसी योजनाएं भी हैं.
  • सरकार श्रमेव जयते कार्यक्रम के तहत श्रम कानून आसान कर रही ह. अब सिर्फ एक दिन में नई कंपनी का रजिस्टर हो सकता है. इससे फायदा देश के नौजवानों को फायदा हुआ है.
  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ मंच परभूटान के प्रधानमंत्री शेरिंग टोब्गे भी मौजूद हैं.
  • सम्मेलन के उद्घाटन समारोह में पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रदर्शनी भी देखी.

असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पोकस नॉर्थ-ईस्ट के विकास पर है. इसके लिए कई सकारात्मक कदम उठाए गए हैं.

Tags

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close