GUWAHATI

बांस की खेती बढ़ाने के लिए असम सरकार अपना रही है क्षेत्र आधारित रणनीति– सोनोवाल

गुवाहाटी

मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने आज कहा कि राज्य सरकार बांस की खेती बढ़ाने के लिए क्षेत्र आधारित रणनीति अपना रही है। बांस पर आधारित दो दिवसीय शिखर सम्मेलन का शुभारंभ करते हुए सोनोवाल ने कहा, “बांस असम के लोगों के जीवन का अभिन्न अंग है| बांस संस्कृति हमारे दिमाग में लंबे समय से बसी हुई है”।

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार बांस के क्षेत्र में समग्र विकास को बढ़ावा देने के लिए प्रतिबद्ध है। बांस के उत्पादन और इसके विपणन को प्रभावित करने के लिए एक व्यापक रणनीति अपनाई जा रही है। नवीनतम तकनीक का इस्तेमाल करते हुए बांस के विशाल संसाधनों से राज्य में तेजी से औद्योगिकीकरण पर बल दिया  जा सकता है| सोनोवाल ने कहा, “असम के लोगों में बांस के साथ काम करने की क्षमता है। असम को पूर्वोत्तर का आर्गेनिक हब बनाने का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का सपना बांस के उपयोग को बढ़ावा देकर पूरा किया जा सकता है। “

प्रतिनिधियों से बांस और इसके संबद्ध क्षेत्रों में निवेश करने का आग्रह करते हुए मुख्यमंत्री ने बांस उद्योग को हर संभव मदद का आश्वासन दिया।

गुवाहाटी को दक्षिण पूर्व एशियाई देशों की व्यापारिक राजधानी के रूप में बदलने की अपनी सरकार की प्रतिबद्धता को दोहराते हुए सोनोवाल ने कहा कि उनकी सरकार शहर के बुनियादी ढांचे और संपर्क व्यवस्था में सुधार के लिए कई कदम उठा रही है।

सोनोवाल ने कहा, “बांस सबसे मजबूत निर्माण सामग्री में से एक है और यह राज्य की ग्रामीण अर्थव्यवस्था का एक महत्वपूर्ण अंग है, जो मिट्टी के क्षरण के खिलाफ एक प्रभावी तंत्र बनाने में भी योगदान दे सकता है।

उद्योग और वाणिज्य विभाग द्वारा आयोजित शिखर सम्मेलन का उद्देश्य हितधारकों को एक साथ लाना था ताकि असम के बांस उद्योग को सक्षम बनाने के लिए नए विचारों, अवसरों और सहयोग का आदान-प्रदान हो सके|

Tags

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close