असम: प्रेमी के प्यार में पागाल युवती पहुँच गई बंगलादेश.. फिर किया हुआ..?- पढ़िए यह खबर

प्रेमी के प्यार में पागल असम की एक युवती गैर कानूनी तरीके से पहुँच गयी बंगलादेश, …प्रेमी से शादी भी कर ली …. उस के बाद किया हुआ यह जानने के लिए पढ़िए यह रिपोर्ट. 


करीमगंज   ( असम  )

प्यार करना कोई गुनाह नहीं. क़ानून भी दो प्यार करने वालों को नहीं रोकता लेकिन प्यार को शादी के मंजिल तक  कानूनी तरीकों के सहारे ही पहुंचाया जाना चाहिए. लेकिन  कहते हैं न कि प्यार जब किसी के सिर चढ़ता  है तो फिर वह सही और ग़लत कुछ भी नहीं सोचता, और कुछ ऐसा कर गुज़रता है  जिस की इजाज़त उसे क़ानून नहीं देता. ऐसा ही कुछ कर डाली असम के करीम गंज की रहने वाली एक युवती ने. ……. पढ़िए पूरी खबर

असम के करीमगंज से 25 दिन से गायब युवती को बांग्लादेश पुलिस ने बुधवार को ढाका से गिरफ्तार किया है.  लड़की के मातापिता ने उसके अपहरण की शिकायत पुलिस में दर्ज कराई थी.

युवती के गिरफ्तारी के बाद जो मामला सामने आया है वह कुछ और ही है.  दरअसल एक युवक के प्रेम में युवती बंगलादेश पहुँच गयी क्योंकि उस का प्रेमी बांग्लादेशी थाऔर वह अपने प्रेमी से शादी करने के लिए गैरकानूनी तरीके से बांग्लादेश में पहुंच गई और फिर उससे शादी कर ली. बांग्लादेश पुलिस ने अवैध रूप से देश में प्रवेश के आरोप में युवती  को गिरफ्तार कर लिया.

असम के करीमगंज के पुलिस के अनुसार मौसमी दास 12 मार्च को गायब हो गई थी.  परिजनों ने तलाश के बाद उसके अपहरण की बात कहते हुए मामला दर्ज कराया था. बुधवार को उन्हें पता चला कि लड़की को बांग्लादेश में गिरफ्तार किया गया है. पुलिस ने मंत्रालय से संपर्क साध लड़की को भारत लाने की तैयारी शुरू कर दी है.

दरअसल बांग्लादेश की राजधानी ढाका के एक पुलिस थाने से एक वीडियो सामने आई थी, जिसमें एक लड़की अपनी मर्जी से भारत से आने की बात कह रही थी. विडियो देखने के बाद  करीमगंज पुलिस ने पाया कि ये लड़की वही है जिसके अपहरण की रिपोर्ट दर्ज है.  

साड़ी बेचने बंगलादेश से असम आए नुमान जफर बादशाह से वो युवती करीमगंज में मिली और फिर उन के बीच प्रेम हो गया. उस के बाद वह लोग 13 मार्च को त्रिपुरा के रास्ते बांग्लादेश पहुंचे.  ढाका जाकर उसने प्रेमी से शादी कर ली.  लेकिन अब  पुलिस का कहना है कि कानूनी प्रकिया के तहत लड़की को वापस लाने की कोशिश की जा रही है.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *