मुख्यमंत्री सोनोवाल ने किया माजुली और काजीरंगा में बाढ़ का निरीक्षण

गुवाहाटी

बाढ़ की बिगड़ती हालत को देखते हुए मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने बुधवार को खुद अपने निर्वाचन क्षेत्र माजुली और काजीरंगा का निरीक्षण किया| इधर चिंतित प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने केंद्रीय गृह राज्य मंत्री किरेन रिजीजू को असम में बाढ़ व राहत और बचाव का जिम्मा अपनी निगरानी में कराने को भेज दिया है|

अकेले माजुली नदी द्वीप में सरकारी आंकड़ों के अनुसार तैंतीस हजार लोग बेघर हो गए हैं| बाढ़ पीड़ितों के सामने खाने-पीने की सामग्री तो दूर अन्य नैमित्तिक कार्यों तक का संकट खड़ा हो गया है|

प्रधानमंत्री ने बुधवार को एक बार फिर असम सहित पूर्वोत्तर के अन्य राज्यों में व्याप्त इस संकट को लेकर अपनी चिंता जताई| साथ ही स्थिति से निपटने के लिए हर संभव मदद का आश्वासन देने की बात दोहराते हुए केंद्रीय मंत्री रिजीजू को निजी तौर पर तैनात कर दिया| उन्होंने अरुणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री पेमा खांडू और वहां के अधिकारीयों से भी बात की है| प्रधानमंत्री ने कहा कि सारा देश संकट की इस घड़ी में असम व पूर्वोत्तर के साथ है|

केंद्रीय गृह राज्य मंत्री रिजीजू के नेतृत्व में एक उच्चस्तरीय दल गुरुवार से तीन दिन तक असम, अरुणाचल प्रदेश और मणिपुर के दौरे पर रहेगा| उनके साथ राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण, नीति आयोग और एनडीआरएफ के सदस्य भी शामिल रहेंगे|

इस बीच सभी रक्षा बलों को राज्य एजेंसियों के साथ राहत व बचाव कार्यों में लगा दिया गया है|

इधर राज्य में जारी बाढ़ की विकरालता और लाखों लोगों के बेघर होने को लेकर प्रदेश कांग्रेस ने भारी चिंता जताई है| इस मामले में राज्य सरकार के पूरी तरह विफल होने का आरोप लगाते हुए प्रदेश कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से व्यक्तिगत हस्तक्षेप कर उच्च क्षमता प्राप्त केंद्रीय टीम भेज राहत चलवाने की मांग की है|

राज्य के 25 जिले बाढ़ से बुरी तरह प्रभावित हैं| ब्रह्मपुत्र और उसकी तमाम सहायक नदियाँ बेकाबू बाढ़ से अपने रास्ते पर पड़ने वाले गांवों, घरों, खेतों और सड़क-तटबंधों आदि को अपनी चपेट में लेती जा रही है| सरकारी तौर पर अब तक बाढ़ से राज्य के विभिन्न स्थानों में 44 लोगों के मरने की पुष्टि की गई है|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: