असम विधान सभा चुनाव में बीजेपी और कांग्रेस दोनों के साथ रखेंगे बराबर की दूरी – बदरुद्दीन अजमल

AIUDF-AGP-CONGRESS-BJPगुवाहाटी- ऑल इंडिया यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट (AIUDF ) के अध्यक्ष और असम के धुबड़ी  लोकसभा सीट से दूसरी बार सांसद बने मौलाना बदरूद्दीन अजमल ने दो टूक कह दिया है  कि उनकी पार्टी असम विधानसभा चुनाव में कांग्रेस और भाजपा दोनों से बराबर की दूरी बनाए रखेगी। यह बातें उन्हों ने दारूल उलूम की मजलिसे शूरा की बैठक में भाग लेने के बाद कहा।

मौलाना बदरूद्दीन का AIUDF के 126 सदस्यीय असम विधानसभा में सत्तारूढ कांग्रेस के बाद सबसे बड़ा दल है। उसके 18 विधायक और तीन सांसद हैं। मौलाना का कहना है कि पहले तो उन्हें यह भरोसा है कि उनकी पार्टी को स्पष्ट बहुमत मिल जाएगा। यदि ऐसा नहीं होता है तो वह न ही कांग्रेस और न ही भाजपा के साथ जाएंगे।

राष्ट्रीय स्तर पर नीतीश कुमार की अगुवाई में बनने वाले मोर्चे में वह शामिल हो सकते हैं पर तब भी विधानसभा चुनाव कांग्रेस के साथ नहीं जाएंगे। लेकिन अतुल बोरा की अगुवाई वाले असम गण परिषद AGP, जिसके 9 विधायक है, के साथ गठबंधन कर सकते हैं। तृणमूल कांग्रेस और हगरामा की अगुवाई वाली बीपीएफ के साथ भी गठबंधन पर विचार हो सकता है।

मौलना यह मानते हैं कि  उन्होंने असम के पिछले चुनाव में मुकाबला कांग्रेस से था और आज भाजपा भी बड़ी चुनौती है, इस लिए लड़ना दोनों से है। उन्होंने कहा कि इस बार उनका इरादा विधानसभा की 75-80 सीटों पर उम्मीदवार उतारने का है। यदि हमें दमदार उम्मीदवार मिलते हैं तो हम सभी 126 सीटों पर भी चुनाव लड़ सकते हैं। लेकिन उन का मुख्य मंत्री कौन होगा इस का फैसला चुनाव जीतने के बाद असम की जनता करेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: