GUWAHATI

असम और अरुणाचल का सपना हुआ साकार, 26 मई को बहूप्रतीक्षित धोला-सदिया पुल का उद्घाटन

गुवाहाटी

असम और अरुणाचल प्रदेश की जनता की लंबित मांग अब देश के सबसे बड़े पुल धोला-सदिया के रूप में वास्तविक रूप लेने जा रही है| ब्रह्मपुत्र पर बन रहे इस पुल का 26 मई को देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उद्घाटन करने जा रहे है| इस पुल के बनने के पीछे न केवल असम और अरुणाचल की जनता की लंबित मांग रही है बल्कि यह राज्य से पूर्व लोकसभा सदस्य डॉ. अरुण शर्मा द्वारा पिछले 14 साल से लगातार बनाए जा रहे दबाव का भी नतीजा है|

डॉ. शर्मा ने पुल के निर्माण को लेकर केंद्र सरकार पर दवाब डालने के लिए राज्य के कुछ विधायकों और असम तथा अरुणाचल प्रदेश के कुछ सांसदों को भी अपनी साथ मिलाया| डॉ. शर्मा ने बताया कि सदिया से असम गण परिषद के विधायक जगदीश भूयां के साथ मिलकर 29 मई 2003 में तत्कालीन एनडीए सरकार के अधीन डोनर मंत्री सीपी ठाकुर को पुल निर्माण के लिए संयुक्त ज्ञापन सौंपा गया था|

डॉ. शर्मा और भूयां ने मिलकर पुल निर्माण की मांग को लेकर 7 जुलाई 2003 को सतह संचार मंत्री बीसी खंडूरी और 10 जुलाई 2003 को डोनर मंत्री सीपी ठाकुर को संयुक्त ज्ञापन सौंपा था|

डॉ. शर्मा ने अरुणाचल प्रदेश के तत्कालीन मुख्यमंत्री मुकुट मिथि से भी इस सिलसिले में संपर्क किया था जिसके बाद मिथि ने तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को 24 जून 2003 में पुल निर्माण के मुद्दे पर ही ज्ञापन भेजा था|

डॉ. शर्मा ने बताया कि वे लगातार इस पुल के निर्माण की मांग केंद्र सरकार के समक्ष रखते आए है| इस सिलसिले में उन्होंने वर्ष 2009 तक विभिन्न केंद्र सरकारों को चिट्ठियां लिखी| उन्होंने संसद में भी यह मांग उठाई थी| शर्मा ने कहा कि 7 अगस्त 2003 में डोनर मंत्रालय के तत्कालीन केंद्रीय राज्य मंत्री तपन सिकदर ने राज्य सभा को बताया था कि डॉ. शर्मा द्वारा उठाए गए प्रश्न संख्या 1979 के जवाब में नार्थ ईस्टर्न काउंसिल द्वारा पुल निर्माण को लेकर सर्वेक्षण चलाया जाएगा |

14 सितंबर 2007 में इसी मुद्दे को लेकर अरुणाचल प्रदेश और असम के सांसदों ने डोनर मंत्री से बातचीत की थी| आखिरकार 29 अक्टूबर 2008 में तत्कालीन डोनर मंत्री मणि शंकर अय्यर ने संसद में केंद्र सरकार के फैसले की घोषणा करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री के 900 करोड़ के पैकेज के तहत इस पुल का निर्माण होगा| केंद्रीय मंत्री ने व्यक्तिगत रूप से इस फैसले की जानकारी डॉ. शर्मा को दी थी|

डॉ. शर्मा ने 26 मई को धोला-सदिया पुल के उद्घाटन को लेकर ख़ुशी जाहिर की है और उन सभी का धन्यवाद किया है जिन्होंने इस सपने को साकार करने में उनकी मदद की|

Tags

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close