50 करोड़ का घोटाला- अरविन्द केजरीवाल के प्रधान सचिव गिरफ्तार

नयी दिल्ली

50 करोड़ रुपये के घोटाले के एक मामले में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के प्रधान सचिव राजेंद्र कुमार सहित 5 लोगों को सीबीआई ने आज गिरफ्तार किया है. राजेंद्र कुमार पर आरोप लगा है कि उन्हों ने  इंडीवर प्राइवेट लिमिटेड नामक कंपनी को विशेष लाभ पहुंचाया है. बताया जा रहा है की राजेन्द्र कुमार इस कम्पनी के हिस्सेदार भी हैं. आरोप है कि राजेंद्र कुमार ने दिल्ली ट्रांस्को लिमिटेड के सीएमडी के रूप में इस कंपनी को लाभ पहुंचाया था. राजेंद्र के साथ जिनकी गिरफ्तारी हुई उनमें तरुण शर्मा, संदीप कुमार, अशोक कुमार और दिनेश गुप्ता का नाम शामिल है. तरुण शर्मा और संदीप कुमार इंडीवर कंपनी के डायरेक्टर हैं.  इन सबको कल दिल्ली के एक स्थानीय अदालत में पेश किया जायेगा.  यह मामला शीला दीक्षित के मुख्यमंत्री रहने के दौरान का है.

बता दें कि शुरू से राजेंद्र कुमार की भूमिका पर सवाल खड़ा किया गया था. लेकिन दिल्ली के मुख्य मंत्री अरविंद केजरीवाल शुरू  से ही राजेंद्र का बचाव करते रहे हैं. सीबीआइ ने इस मामले में कई बार राजेंद्र कुमार से पूछताछ की थी, और  इसी आधार पर सीबीआई ने पहले भी रेड की थी.

राजेंद्र कुमार ने 2006 में अपने दोस्त के साथ मिलकर इंडीवर प्राइवेट लीमिटे़ड कंपनी कंपनी को खोला था. उन पर आरोप है कि अपने पद का गलत इस्तेमाल करते हुए उन्होंने कई अहम ठेके इस कंपनी को दिलाये थे.

उधर दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने केंद्र सरकार पर बदला लेने का आरोप लगाते हुए इसे गिरी हुई हरकत बताया है.  उर आरोप लगया है कि मुख्यमंत्री कार्यालय को कमजोर करने की पूरी कोशिश की जा रही है. उन्होंने कहा कि हम केंद्र सरकार को काम करके दिखायेंगे दिल्ली की जनता ने हमें भेजा है. हम काम करेंगे अगर एक  चपरासी भी बचेगा तो काम करके दिखा देंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: