असम के सरकारी स्कूलों में 4 लाख फर्जी छात्र- शिक्षा मंत्री हिमंत बिस्वा शर्मा  

गुवाहाटी

असम के सरकारी स्कूलों में 4 लाख फर्जी छात्र-छात्राओं के आंकड़े सामने आये हैं. इस बात की जानकारी खुद शिक्षा मंत्री डॉ. हिमंत बिस्वा शर्मा  ने एक सवांददाता सम्मेलन में दिया.

तीसरे और अंतिम गुणोत्सव के नतीजों का एलान करते हुए  उन्हों ने कहा कि इस प्रक्रिया  में 20 प्रतिशत यानी 4 लाख फर्जी छात्र-छात्राओं के आकडे सामने आये  हैं. जो  मध्याह्न भोजन और स्कूल ड्रेस को पाने के लिए स्कूलों में अधिक छात्र-छाप्राए दिखाये गये.  अब इन आंकड़ों को ठीक करने के बाद  इससे केवल स्कूल ड्रेस में ही 16 करोंड़ रुपये की बचत होगी.

डॉ. शर्मा ने कहा कि तीसरे दौर के गुणोंत्सव में प्रदर्शन पहले  से बहुत बेहतर हुआ है जो भी कमियाँ आई है उनको दू करने के लिए 962 है करोड़ रुपये की जरूरत होगी.  अगले बजा में इसको शामिल कर आने वाले के वर्ष में इन सभी  समस्याओं को हल कर लिया जाएगा .

तीन से छह जनवरी तक  चले गुणोंत्सव के दौरान 13 जिलों में 1174995 छात्र-छात्राओं के शैक्षिक स्तर का मूल्यांकन किया गया ।  इन 1 3 जिलों में माजुली,  बाक्सा, दाग, धेमाजी , विश्वनाथ चारि, ग्वालपाडा, गपैलाघाट, डोजाद्दे, नलबाडी. शोणितपुर, धुबड़ी, करीमगंज और दक्षिण शालमारा, मानकाचर शामिल है.

डॉ. शर्मा ने बताया कि 48966 प्राथमिक स्कूलों  के 30.11,885 छात्र-छात्राओँ के शैक्षिक स्तर का मूल्याकन किया गया .

पहले गुणोत्सव्र में ए प्लस स्कूलों की संख्या 777 और ए स्कूलों की संख्या 2323 थी, जबकि दूसरे चरण  के गुणोंत्सव में ए प्लस स्कूलों की सख्या 1672 और ए स्कूलों की संख्या 5480 थी.

मंत्री ने कहा कि आज ही 37 लाख छात्र- छात्राओं की स्कूल ड्रेस के लिए 149 करोड जारी  किये गये है.  गुणोत्सव के बाद प्राथमिक स्कूल में 28 हजार छाव्र-छात्राओं का  प्रवेश पिछले वर्ष की तुलना में जियादा हुआ है.  906 स्कूलों में कक्षा के लिएकमरों की आवश्यकता है.  दस हजार स्कूलों में पार्टीशन की जरूरत है .  1379 स्कूलों में  शोचालय  नहीं है, जबकि 48 हजार स्कूलों में से 34 हजार में बिजली की व्यवस्था नहीं है.  मंत्री  ने बताया कि पिछले साल स्कूल ड्रॉप आउट 16 लाख था.  इस बार इसमें कमी आयी है.  यह 7 8 हजार है.

 तीसरे दौर के गुणीत्सव में ग्वालपाडा प्रथम, नलबाडी दूसरे स्थान पर और अंग तीसरे स्थान पर रहा. डॉ. शर्मा ने खुलासा किया कि प्राइवेट स्कूलों के लिए विधानसभा में विधेयक आएगा.  सात मार्च की केबिनेट में इसे हरी झंडी मिली तो यह इसी सत्र में आएगा. अगले साल तो चरणों में गुणोत्सव किया जाएगा और हाईस्कूलों के लिए भी गुणोंत्सव होगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: